जागरण संवाददाता, लालकुआं : JE Girjesh Accident : मृतक गिरजेश पंत की मौत के बाद उनके छोटे भाई कमलेश पंत रात में ही दिल्ली को रवाना हो गए है। जबकि पत्नी व बच्चों व अन्य स्वजनों को अनहोनी की जानकारी अभी तक नही बताई है। मृतक की दो बेटियां व एक छोटा पुत्र है। बड़ी बेटी आकांश 16 साल व छोटी बेटी 12 साल की है। जबकि उनका बेटा प्रियांश तीन वर्ष का है। उनकी पत्नी प्रीति पंत गृहणी है। इधर, उनकी मां आशा पंत भी अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर आ गई है। इधर मृतक के पिता श्याम दत्त पंत मेरठ अस्पताल में भर्ती है। जिनको डिस्चार्ज कर हल्द्वानी अस्पताल में लाया जा रहा है। माता पिता समेत अन्य स्वजनों को भी गिरजेश के घायल होने की जानकारी तो है लेकिन मौत की जानकारी अभी तक उन्हें भी नही दी गई है। 

अनहोनी से अनभिज्ञ मृतक के माता, पिता, पत्नी, बच्चे व अन्य स्वजन उनके सकुशल लौटने की उम्मीद लगाए बैठे है। परंतु होनी को कौन टाल सकता है। इधर रात्रि में मृतक का शव उनके आवास पर पहुंचने की उम्मीद है। मिलनसार व हंसमुख स्वभाव के धनी गिरजेश की मौत से क्षेत्र में शोक की लहर है। उनकी मौत की सूचना उनके गांव के कई लोग गजरौला गए हुए है। बताया जा रही है कि गिरजेश का ससुराल लखनऊ में है उनके पहुंचने के बाद ही स्वजनों घटना की सूचना दी जाएगी।

ट्रेन बंद होने के कारण कार से दिल्ली को गए थे गिरजेश

कहते है मौत कोई कारण ढूंढ लेती है। ऐसा ही कुछ गिरजेश की मौत भी देखने को मिला। दरअसल गजरौला में सड़क दुर्घटना में अकाल मौत का शिकार बने हल्दूचौड़ के नाथूपुर निवासी अवर अभियंता गिरजेश पंत मां को इलाज के लिए पहले ट्रेन द्वारा दिल्ली जाने वाले थे। परंतु रामपुर के पास रेल लाइन में कार्य होने के चलते दिल्ली रूट की रेलगाडिय़ां बंद हो गई। जिसकारण गिरिजेश पंत गत देर रात्रि कार द्वारा दिल्ली को रवाना हुए। उन्होंने ट्रेन में रिजर्वेशन कराया था। 

Edited By: Prashant Mishra