हल्द्वानी, जेएनएन : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने वर्चुअल रैली के जरिये गुरुवार शाम हल्द्वानी विधानसभा के कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि तीन साल के कार्यकाल में प्रदेश सरकार ने एतिहासिक काम किए हैं। विजय डाॅॅक्यूमेंट में शामिल सभी बड़ी घोषणाएं पूरी होने जा रही हैं। सीएम घोषणा के 85 प्रतिशत वादे पूरे किए हैं। जमरानी बांध और रानीबाग विद्युत शवदाह गृह के निर्माण से हल्द्वानीवासियों की वर्षों पुरानी मांग पूरी होगी।

सीएम ने कहा कि हल्द्वानी रिंग रोड का काम प्रगति पर है। हल्द्वानी तरसील का 20 करोड़ की लागत से नया भवन बनना है। आइएसबीटी के लिए सरकार प्रयासरत है। जमीन जल्द ट्रांसफर हो जाएगी। पार्कों के सुंदरीकरण की कई योजनाएं निर्माणधीन हैं। उन्होंने कहा आज प्रदेश की सभी जिलों में आइसीयू व वेंटिलेटर हैं। प्रशिक्षित मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ तैनात किया गया है। प्रदेश के प्रयासों से लिंगानुपात में सुधार हुआ है। मेडिकल काॅलेज में सीटें बढ़ाई हैं। उन्होंने कहा कि जम हमारी सरकार आई थी।

प्रदेश में भ्रष्ट्राचार बड़ा मुद्दा था। हमने भ्रष्ट्राचार पर अंकुश लगाने का काम किया है। 150 से अधिक घोटोलेबाजों को गिरफ्तार किया गया। अटल आयुष्मान योजना वरदान साबित हो रही है। केंद्र सरकार के एक साल के कार्यकाल का जिक्र करते हुए रावत ने कहा जब पूरी दुनिया कोरोना से जूझ रही थी। प्रधानमंत्री मोदी ने समय पर लाॅकडाउन का फैसला लिया। इससे हमें संभलने तैयारी करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि संकट के इस समय में भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेवादारों की तरह काम किया। इसका डाॅक्यूमेंटेशन हो रहा है। आने वाली पीढ़ी हमारी सेवा को याद रखेगी।

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का जिक्र करते हुए रावत ने कहा कि प्रयासियों के लिए यह योजना वरदान साबित होगी। योजना के लिए किसी तरह की योग्यता की वंदिश नहीं रखी है। कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा हमने अपने वायदे पूरे किए हैं। कार्यकर्ताओं को सरकार के काम पर फक्र होना चाहिए। इधर, भाजपा के संभाग कार्यालय से जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, रैली संयोजक मेयर डाॅ जोगेंद्र रौतेला, प्रताप बिष्ट, प्रकाश रावत, कमलनयन जोशी, प्रदीप जनौटी, नवीन पंत, लक्ष्मण खाती, देवेंद्र बिष्ट, भुवन जोशी, संजय दुम्का, चंदन बिष्ट आदि ने सीएम को सुना।

 

हरेला पर होगा पौधरोपण

सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि हरेला हमारी संस्कृति का हिस्सा बन चुका है। इस बार 16 जुलाई को हरेला पर्व पर व्यापक पौधरोपण कार्यक्रम होगा। हमें फिजिकल डिस्टेंस का पालन करते हुए पौधरोपण करना है। उन्होंने कार्यकर्ताओं ने अनिवार्य रूप से एक-एक पौधा लगाने का आहवान किया।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस