जागरण संवाददाता, हल्द्वानी: बरसात में आपदा से निपटने की व्यवस्थाएं दुरुस्त रहें, इसके लिए सोमवार को एसडीएम विवेक राय ने अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि खाद्यान्न से लेकर अस्पतालों में पर्याप्त दवाइयां उपलब्ध करा ली जाए।

बैठक में उपस्थित चार ग्राम सभाओं के ग्राम प्रधान, सिचाई विभाग, लोक निर्माण विभाग, ऊर्जा निगम, पूर्ति विभाग, स्वास्थ्य विभाग व शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मानसून की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई। एसडीएम ने कहा कि राशन कार्डो का सत्यापन में तेजी लाएं। पांच लाख रुपये से अधिक आय वालों का सफेद राशन कार्ड निरस्त किया जाए। वहीं एसडीएम ने चोरगलिया का भी दौरा किया। उन्होंने कहा कि खनन एरिया की वजह से नंधौर नदी की धारा कैलाश नदी की ओर प्रवाहित हो रही है। चार स्थानों से नदी का प्रवाह चोरगलिया बाजार व डाक बंगले की ओर ओ रहा है। इस स्थान पर पोकलैंड से डायवर्जन करने के लिए प्रभागीय वनाधिकारी से वार्ता कर समस्या का निराकरण किया जाए।

मानसून सत्र को लेकर एसडीएम हल्द्वानी विवेक राय ने सिंचाई विभाग के विश्राम गृह में सिंचाई विभाग के अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों के साथ बैठक ली। साथ ही नंधौर नदी में भू-कटाव का जायजा लिया।

सोमवार को बैठक के दौरान ग्रामीणों ने भूवन पोखरिया में नंधौर नदी में कटाव को रोकने के लिए डायवर्जन की मांग की। वहीं प्रधान नंदन बोरा ने नंधौर नदी के पानी को कैलाश नदी में डायवर्जन की माग रखी। प्रधान भावना बजेठा ने प्रावि में जलभराव रोकने तथा सिडकुल से चोरगलिया बाजार तक खराब सड़कें ठीक कराने की माग की। जिसपर एसडीएम विवेक राय ने संबंधित विभागों के अधिकारियों से बैठक कर शीघ्र समस्या का समाधान का निराकरण का आश्वासन दिया। उसके बाद एसडीएम नंधौर नदी के भू-कटाव स्थल का वन विभाग के अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। इस मौके पर खनन अधिकारी रवि नेगी, तहसीलदार पीआर आर्य, एसडीओ सिंचाई आनंद सिंह नेगी आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस