संस, रामनगर: बीते दिनों हल्द्वानी के व्यवसायी के 22 लाख रुपये व कार लेकर फरार हुआ चालक एक शातिर अपराधी निकला। वह 2017 से जेल से छूटने के बाद से अपने फिरोजाबाद स्थित घर से फरार था। हालाकि व्यवसायी की कार पुलिस बीते दिनों पीरूमदारा क्षेत्र से बरामद कर चुकी है। वह कार को छोड़कर रामनगर से फरार हो गया था।

भोटिया पड़ाव हल्द्वानी निवासी शोभित बंसल ने रामनगर में जमीन खरीदी थी। एक फरवरी को वह तहसील में जमीन की रजिस्ट्री के लिए पहुचे थे। उनके साथ उनका चालक आगरा निवासी संतोष भी था। जब वह रजिस्ट्री कराने के लिए तहसील में पहुचे तो इसी बीच उनका चालक रजिस्ट्री के लिए लाए गए 22 लाख रुपये व कार को लेकर फरार हो गया। पुलिस ने तीन फरवरी को पीरूमदारा क्षेत्र में छोड़ी गई व्यवसायी की कार को बरामद कर लिया था। एसआइ प्रकाश महरा टीम के साथ आगरा पहुचे। पुलिस जाच में पता चला है कि व्यवसायी के चालक संतोष सिंह पर उप्र के फिरोजाबाद के सिरसागंज थाने में हत्या के प्रयास का एक मुकदमा दर्ज है। संतोष के एक बड़े भाई की भी रजिश के चलते हत्या कर दी गई थी। इसके बाद संतोष ने भाई का बदला लेने के लिए गोली चलाई थी। कोतवाल रवि सैनी ने बताया कि आरोपित कुछ दिन जेल भी गया था। इसके बाद वह जेल से बाहर आकर घर से फरार हो गया था। उसकी पत्‍‌नी रश्मि के द्वारा पति की गुमशुदगी दर्ज कराई गई है। फिलहाल आरोपित नहीं मिला है। आरोपित की तलाश की जा रही है। कोतवाल सैनी ने बताया कि आरोपित का व्यवसायी द्वारा सत्यापन भी नहीं कराया था। वह रामगढ़ में व्यवसायी के संपर्क में आया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस