नैनीताल, जागरण संवाददाता : नैनीताल स्थित बीडी पांडे अस्पताल का रविवार को 127वां स्थापना दिवस धूम धाम से मनाया गया। इस दौरान बतौर मुख्य अतिथि पहुँचे अपर आयुक्त प्रकाश चंद द्वारा दीप प्रजवलित व केक काटकर अस्पताल कर्मियों को बधाई दी गयी। साथ ही अस्पताल की नींव रखने वाले चार्ल्स फ्रोसफेट व बद्री दत्त पांडे को याद किया गया। इस दौरान पूर्ति निरीक्षक सुरेंद्र सिंह बिष्ट व नर्सिंग स्कूल की छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि प्रकाश चंद्र ने कहा कि कोविड काल मे बीडी पांडे अस्पताल कर्मियों द्वारा सराहनीय कार्य किया गया है। 127 वर्षों से यह अस्पताल खुद इतिहास समेटे हुए है। डॉ आरके वर्मा कहा कि 17 अक्टूबर 1894 में चार्ल्स फ्रोस्फेट ने बीडी पांडे अस्पताल की नींव रखी। जबकि आजादी के बाद वर्ष 1960 में कुमाऊं केसरी बद्री दत्त पांडे के नाम पर अस्पताल का नामकरण हुआ। डॉ.एमएस दुग्ताल ने बीडी पांडे के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह अध्यापक, सैन्य अभियंता, पत्रकार, संपादक, स्वतंत्रता सेनानी रहे।

1926 -30 में वह प्रांतीय काउंसिल के सदस्य, 1935-37 में सदस्य केंद्रीय एसेंबली, 1955-57 लोक सभा सदस्य भी रहे। अल्मोड़ा डिस्ट्रिक्ट बोर्ड के चेयरमैन रहे स्व.पांडे को समाज सुधारक और कुप्रथा के दमनकर्ता के रूप में भी जाना जाता है। कार्यक्रम ताल चैनल के निदेशक दीपक बिष्ट के प्रयासों से आयोजित किया गया। बता दे कि दीपक बिष्ट के द्वारा बीते कई वर्षों से नैनीताल, राजभवन का भी जन्मदिन आयोजित किया जाता है। कार्यक्रम में समाजसेवी ईशा साह, मेट्रन शशिकला पांडे,एलिस्बेग, भारती सक्सेना, जगदीश सिंह, पंकज आदि मौजूद रहे।

Edited By: Skand Shukla