जागरण संवाददाता, रुड़की : खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने कहा कि सहारनपुर में दिए गए उनके बयान को अधूरे संदर्भ में तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि भाजपा के अलावा उनकी सामाजिक पहचान भी है। वह भाजपा के समर्पित कार्यकत्र्ता व सिपाही हैं और रहेंगे। उन्हें विश्व की सबसे बड़ी पार्टी का कार्यकत्र्ता होने पर गर्व है।

शनिवार को कैंप कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान विधायक चैंपियन ने कहा कि विगत शुक्रवार को सहारनपुर से पंजाब के नवांशहर में आयोजित कबड्डी टूर्नामेंट में बतौर मुख्य अतिथि वह शामिल हुए थे। इस दौरान सहारनपुर से रवाना होते समय उनका एक बयान इंटरननेट मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें चैंपियन राजा मिहिर भोज के इतिहास पर प्रकाश डाल रहे थे। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा था कि उनकी पहचान अपने समाज में विशेष रूप से है। साथ ही ये भी कहा था कि उनकी पहचान केवल भाजपा से ही नहीं है, बल्कि उनकी शिक्षा और व्यक्तित्व से भी है। चैंपियन ने कहा कि उनके बयान को अधूरे संदर्भ में प्रसारित किया गया। उन्होंने वीर गुर्जर सम्राट मिहिर भोज को लेकर कहा कि उन्होंने आठवीं शताब्दी में 50 साल तक राज किया। अरब की ओर से आने वाले आक्रांताओं को रोककर भारत को सुरक्षित किया। वह भगवान विष्णु के उपासक थे। उन्होंने विष्णु के तीसरे वराह अवतार को अपने नाम से जोड़कर उपाधि ली। इसको लेकर ही उन्होंने सम्राट मिहिर भोज के साथ भगवान विष्णु के वराह अवतार का जिक्र किया। चैंपियन ने खानपुर सीट पर पत्नी के लिए मांगा टिकट

लक्सर : खानपुर से भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने दावा किया कि गुर्जर समाज ने उन्हें नेता मान लिया है। वह देश के अलग-अलग हिस्सों में गुर्जर समाज के कार्यक्रम में जा रहे हैं। उनका मध्यप्रदेश जाने का कार्यक्रम भी है। चैंपियन ने कहा कि पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में उन्हें दो टिकट दे। वर्तमान सीट खानपुर पर वह अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाना चाहते हैं। अपने लिए वह ऐसी सीट मांग रहे जिस पर भाजपा आज तक नहीं जीत पायी। उनका कहना था कि पार्टी जहां से उन्हें टिकट देगी, वे वहां से ही लड़ेंगे। चैंपियन ने वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए सांसद के लिए भी टिकट मांगा।

वहीं पिछले कुछ दिनों से चैंपियन की जिला पंचायत के निवर्तमान अध्यक्ष सुभाष वर्मा के साथ बयानबाजी चल रही है। माना जा रहा है कि सुभाष वर्मा भी खानपुर सीट से दावेदारी कर रहे हैं। चैंपियन ने कहा कि मेरे बारे में कोई कुछ भी कहे, मैंने सुभाष वर्मा को नवरात्र पर शुभकामना संदेश भी भेजा था। वह उनकी बिरादरी के हैं। साथ ही चैंपियन ने कहा कि चुनाव में कई आते हैं। कोरोना काल में कोई आया तो वह बताए। उनके पूरे परिवार ने कोरोना काल में जनता की मदद की।

Edited By: Jagran