हरिद्वार, जेएनएन। हरिद्वार जिले में किट्टी के दो करोड़ रुपये की धोखाधड़ी में गिरफ्तार हुई दोनों बहनों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। बहस और सुनवाई के बाद कोर्ट ने दोनों बहनों को जेल भेज दिया है। 

दरअसल, विवेक विहार निवासी दो बहनें कमलेश और जगदंबा काफी समय से किट्टी संचालित कर रही थी। विवेक विहार, आवास विकास सहित पंचपुरी के अलग-अलग इलाके की महिलाओं ने उनके पास किट्टी डाली हुई थी। बीती दो सितंबर को दोनों बहने रातों रात गायब हो गई थी। जिसके बाद निवेशकों ने उनके घर पर हंगामा किया था। पुलिस ने गोविंदपुरी निवासी सुशील चौखानी की तहरीर पर दोनों बहनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था, लेकिन चार-पांच दिन बाद दोनों बहने नाटकीय घटनाक्रम के तहत लौट आई। 

पुलिस के पूछताछ के बाद छोड़ने पर भी लोगों ने कोतवाली में हंगामा किया था। बहरहाल, पुलिस ने मुकदमे में धोखाधड़ी, अमानत में खयानत के अलावा आपराधिक षडय़ंत्र, चिट फंट एक्ट की धाराएं भी जोड़ते हुए रविवार को दोनों बहनों कमलेश और जगदंबा पुत्री स्व. रामदास निवासी विवेक विहार हरिद्वार को गिरफ्तार किया था। सोमवार की सुबह दोनों को कोर्ट में पेश किया गया। 

दोनों बहनों की तरफ से उनके अधिवक्ता ने अपना पक्ष रखते हुए जमानत देने की प्रार्थना की। ज्वालापुर कोतवाल योगेश सिंह देव ने जांच के दौरान सामने आए तथ्यों से कोर्ट को अवगत कराया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने दोनों बहनों को जेल भेज दिया। एएसपी सदर आयुष अग्रवाल ने बताया कि किट्टी की धोखाधड़ी में गिरफ्तार दोनों बहनों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें: तंत्र-मंत्र से बीमार बालिका को ठीक करने का किया दावा, पिता से ठग ली सोने की चेन

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप