Move to Jagran APP

उत्तराखंड के टॉप उद्योगपतियों ने Budget 2023 को सराहा, कहा- विकसित भारत के सपने को साकार करने...

Top industrialists of Uttarakhand उद्योगपतियों ने बुधवार को पेश आम बजट की सराहना करते हुए उसे विकसित भारत के सपने को साकार करने की नींव बताया। उन्होंने कहा कि बजट को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखना गलत होगा।

By Anoop kumar singhEdited By: Nitesh SrivastavaPublished: Thu, 02 Feb 2023 09:33 AM (IST)Updated: Thu, 02 Feb 2023 09:33 AM (IST)
संसद में बजट पेश करती हुईं निर्मला सीतारमण (फाइल)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार : उद्योगपतियों ने बुधवार को पेश आम बजट की सराहना करते हुए उसे विकसित भारत के सपने को साकार करने की नींव बताया। उन्होंने कहाकि बजट में हर वर्ग, हर उद्योग, व्यवस्था और विकास के दृष्टिकोण से व्यवस्था की गई है और भविष्य के भारत के सपने को पूरा करने की दिशा में मजबूती से कदम बढ़ाया गया है। कहा कि बजट को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखना गलत होगा।

सिडकुल इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन ने बजट की सराहना करते हुए कहाकि बजट विकासोन्मुखी होने के साथ-साथ सभी को राहत पहुंचाने वाला है। सिडकुल मैन्युफ्रैक्चर्स एसोसिएशन उत्तराखंड ने कहाकि बजट में खेती-किसानी का विशेष ख्याल रखा गया है। इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन आफ हरिद्वार ने कहाकि उद्योगों के नजरिये से मोदी सरकार ने बेतहरीन बजट पेश किया है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन बधाई की पात्र हैं। उद्योगों के साथ-साथ खेती-किसानी को बढ़ावा देने और मध्यम वर्ग को आयकर में छूट देने के लिए टैक्स छूट को सात लाख करना बता रहा है कि सरकार देश के चहुंमुखी विकास को प्रतिबद्ध है।

सीआइआइ उत्तराखंड चैप्टरल के अध्यक्ष सोनिया गर्ग के अनुसार, प्रस्तुत केंद्रीय बजट एक विकासोन्मुख बजट है, इसमें समावेशी विकास की सात प्राथमिकताएं, बुनियादी ढांचे, निवेश और क्षमता को उजागर करना, हरित विकास, युवा शक्ति और वित्तीय क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करके अमृतकाल के लिए सरकार के दृष्टिकोण को स्पष्ट रूप से इंगित किया है।

फारेस पालीमर्स के प्रबंध निदेशक विकास गर्ग ने कहा कि केंद्रीय बजट विकसित भारत की तस्वीर पेश कर रहा है, भविष्य की योजनाओं, विकास कार्यक्रमों के साथ-साथ उद्योगों को भी इसमें राहत दी गई है। आयकर में दी गई छूट आम आदमी को राहत पहुंचा रही तो छोटे और मझोले उद्योगों का भी इसमें पूरा ध्यान रखा गया है। कुल मिलाकर बजट बेहतर है और बेहतर भारत के निर्माण का प्रतीक है।

इंडस्ट्रीज एसोसिएशन आफ हरिद्वार के अध्यक्ष मनोज गौतम ने कहा कि उद्योगों के नजरिये से मोदी सरकार ने बेहतर बजट पेश किया है। इसमें बड़े उद्योगों के साथ-साथ छोटे और मझोले उद्योगों का भी ख्याल रखा गया है। क्रेडिट गारंटी स्कीम में दो लाख करोड़ का प्रविधान, लघु उद्योग के लिए बेहतर ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था, आटो सेक्टर की बेहतरी के लिए स्क्रैप पालिसी का प्रविधान आदि बजट की विशेषता है। कुल मिलाकर विकसित भारत के निर्माण को पेश किया गया यह बेहतर बजट है।

सिडकुल मैन्युफ्रैक्चर्स एसोसिएशन उत्तराखंड के अध्यक्ष हरेंद्र गर्ग के अनुसार आम बजट में क्रेडिट गारंटी स्कीम में दो लाख करोड़ का प्रविधान और लघु उद्योग के लिए बेहतर ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था कर भारत सरकार ने बेहतर काम किया है। इससे छोटे और मझौले उद्योग मजबूत होंगे और देश की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ कामगारों के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। आयकर में सात लाख तक की आय को कर मुक्त करना बड़ा कदम, इससे आम जनता विशेष कर मध्यमवर्ग को बड़ी राहत मिलेगी। सरकार ने अपने वादे अनुरूप खेती-किसानों यानी एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए एलोकेशन बढ़ाया तो आटो सेक्टर में स्क्रैप पालिसी का प्रविधान कर उसे गति दी।

इसके अलावा सिडकुल इंडस्ट्रीयल के एसोसिएशन के अध्यक्ष अरूण सारास्वत ने कहा कि केंद्रीय बजट प्रगतिशील भारत का विकसित भारत के लिए नींव का प्रारंभ है। इस हिसाब से बजट को तीन नाम दे सकते हैं, अबकी बार 350 पार बजट, अंत्योदय बजट, राबिनहुड बजट। खेती-किसानी यानी एग्रीकल्चर सेक्टर को एलोकेशन बढ़ाया तो आटो सेक्टर में स्क्रैप पालिसी का प्रविधान कर उसे गति दी। बजट में मध्यम श्रेणी और सैलरी क्लास का विशेष ध्यान रखा गया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.