Move to Jagran APP

UPI ID के जरिए पकड़ा गया शातिर, पत्नी करती थी विरोध… लिवइन पार्टनर काे रास्ते से हटाने के लिए रची घिनौनी साजिश!

पूजा मिश्रा की हत्या उसी के लिव इन पार्टनर ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने यूपीआई आईडी की मदद से सुराग जुटाते हुए आरोपी दंपति को गिरफ्तार कर हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है। जांच में यह भी पता चला कि महिला की हत्या के बाद आरोपी दंपति ने उसके पांच माह के बच्चे को मानेसर मंदिर गुरुग्राम में छोड़ दिया था।

By Jagran News Edited By: Shivam Yadav Published: Tue, 21 May 2024 11:11 PM (IST)Updated: Tue, 21 May 2024 11:11 PM (IST)
UPI ID के जरिए पकड़ा गया शातिर।

जागरण संवाददाता, हरिद्वार। उत्तराखंड में बिहार के मधुबनी की महिला पूजा मिश्रा की हत्या उसी के लिव इन पार्टनर ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने यूपीआई आईडी की मदद से सुराग जुटाते हुए आरोपी दंपति को गिरफ्तार कर हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है। 

जांच में यह भी पता चला कि महिला की हत्या के बाद आरोपी दंपति ने उसके पांच माह के बच्चे को मानेसर मंदिर गुरुग्राम में छोड़ दिया था। वहां, हरियाणा पुलिस ने उनके खिलाफ अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया है। हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रमेन्द्र डोभाल ने मायापुर में पत्रकारों से बातचीत में हत्याकांड का पर्दाफाश किया।

यह है साजिश की पूरी कहानी 

एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल ने बताया कि 16 मई को मनसा देवी मंदिर पैदल मार्ग के पास महिला का शव खाई में मिला था। उसके हाथ, पैर और मुंह पर खंरोच के निशान थे। जबकि नाक पर खून लगा था। प्रथम दृष्टया यह माना जा रहा था कि महिला की हत्या हुई है। 

छानबीन के दौरान एक मोबाइल नंबर का पता चलने पर पुलिस ने मोनू कुमार निवासी ग्राम धनसिया, जिला मधुबनी बिहार से संपर्क किया और युवती की फोटो व्हाट्सएप पर भेजी। मोनू ने महिला की पहचान अपनी पत्नी पूजा मिश्रा निवासी मधुबनी बिहार के रूप में की। 

घर से भागी थी पूजा

मोनू ने बताया कि पूजा दो साल पहले घर से भाग गई थी। इधर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या की बात सामने आई। इस मामले में एक पुलिस टीम गठित कर मनसा देवी आने जाने वाले सीसीटीवी कैमरों की छानबीन की।

यूपीआई आईडी की मदद से पकड़ा

फुटेज में मनसा देवी मंदिर के पास पूजा मिश्रा के साथ दिखाई दे रहा व्यक्ति हरकी पैड़ी पर हाथी पुल के पास चाय की दुकान पर गूगल पे से भुगतान करता नजर आया। पुलिस ने दुकान मालिक से भुगतान की जानकारी लेते हुए यूपीआई आईडी की मदद से आरोपी रोशन कुमार कामत व उसकी पत्नी खुशबू कामत हाल निवासी खांडसा गुरुग्राम हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया। 

कमरा दिलाने के जिद कर रही थी पूजा

एसएसपी ने बताया कि दो साल पहले मधुबनी बिहार से भागकर हरियाणा आई पूजा गुरुग्राम में रोशन के साथ लिव इन में रहती थी। पांच महीने पहले उसे बेटा भी हुआ था। कुछ समय पहले रोशन की शादी खुशबू से होने पर उसने पति के अवैध संबंध पर ऐतराज जताया, जबकि पूजा उसे अलग कमरा दिलाने की जिद कर रही थी। 

इस बात को लेकर तीनों के बीच विवाद हुआ और रोशन अपनी पत्नी खुशबू व पूजा मिश्रा को घुमाने के लिए हरिद्वार आया। यहां मनसा देवी मंदिर के समीप गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हरिद्वार से फरार होने के बाद दोनों ने उसके पांच माह के बेटे को गुरुग्राम में मानेसर मंदिर में लावारिस छोड़ दिया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.