संवाद सहयोगी, रुड़की: कोरोना की टेस्टिंग बढ़ाए जाने के दावों के बीच सीएमओ ने सिविल अस्पताल में कम टेस्टिंग पर चिंता जताई है। उन्होंने अस्पताल में प्रतिदिन डेढ़ सौ सैंपल लिए जाने के निर्देश दिए। अस्पताल की सफाई व्यवस्था से संतुष्ट दिखे सीएमओ ने कम स्टाफ पर चिंता जताई। उन्होंने अस्पताल का स्टाफ बढ़ाने को भी कहा।

बुधवार को सीएमओ डॉ. एसके झा ने बुधवार को सिविल अस्पताल का निरीक्षण किए। सीएमओ ने अस्पताल के वार्ड, लेबर रूम, ओपीडी, पैथोलॉजी लैब, आपरेशन थियेटर, ट्रॉमा सेंटर का भी जायजा लिया। उन्होंने नई बन रही पैथोलॉजी लैब का भी निरीक्षण किया। सीएमओ ने कोरोना के लिए बनाए गए फ्लू क्लीनिक के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोरोना के सैंपल बढ़ाए जाएं, कम से कम रोजाना डेढ़ सौ लोगों की टेस्टिंग की जाए। उन्होंने कहा कि जिस भी व्यक्ति की ट्रैवल हिस्ट्री हो, उसके सैंपल अनिवार्य रूप से लें। वहीं कोविड-19 का एक भी लक्षण दिखने पर तुरंत सैंपल की जांच कराएं। सीएमओ ने अस्पताल की सफाई व्यवस्था पर संतोष जताया, लेकिन अस्पताल में मरीजों की भीड़ को देखते हुए कम स्टॉफ पर चिता जताई। उन्होंने कहा कि अस्पताल में मरीजों की संख्या को देखते हुए दो एलटी, फॉर्मेसिस्ट, स्टाफ नर्स और चिकित्सक भेजे जाएंगे। आफिस स्टॉफ भी बढ़ाए जाने के लिए कहा। सीएमओ ने वार्ड में भर्ती मरीजों से बातचीत कर सुविधाओं के बारे में पूछा। इस मौके सीएमएस डॉ. संजय कंसल, डॉ. मनीष दत्त, डॉ. एके मिश्रा, डॉ. दिलीरमन, डॉ. एके श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस