जागरण संवाददाता, हरिद्वार: अ‌र्द्धकुंभ 2016 में लापता हुए चंपावत के सिपाही जनकराज के बारे में पुलिस टनकपुर में तिहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाले प्रीतम से पूछताछ करेगी। टनकपुर पुलिस के अलावा सिपाही जनकराज के परिजनों को भी प्रीतम की भूमिका पर शक है। खास बात यह है कि प्रीतम खुद हरिद्वार में एक महिला की हत्या करने की बात कुबूल चुका है। हालांकि हरिद्वार पुलिस की छानबीन में अभी तक ऐसा कोई तथ्य सामने नहीं आया है।

चंपावत जिले के ग्राम गेंडाखाली निवासी जनकराज वर्ष 2016 में बागेश्वर पुलिस लाइन में तैनाती के दौरान अ‌र्द्धकुंभ मेला ड्यूटी में हरिद्वार आया था। 17 जनवरी को कनखल के बैरागी कैंप क्षेत्र से वह संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गया। कनखल थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज है। लापता होने के दिन सिपाही छुट्टी पर होने के चलते उसके परिवार को कानूनन कोई सहायता नहीं मिल पाई। हालांकि हरिद्वार पुलिस ने परिवार की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया। बहरहाल टनकपुर के तिहरे हत्याकांड में पकड़ा गया आरोपित प्रीतम ने कई अंजान लोगों की हत्या करने का जुर्म कुबूला है। प्रीतम की पूर्णागिरी मेले में सिपाही जनकराज से दोस्ती हो गई थी। चूंकि प्रीतम अपने कई करीबियों को मौत के घाट उतार चुका है, इसलिए जनकराज के परिजन भी उस पर बेटे के साथ अनहोनी करने का शक जता रहे हैं। जनकराज की मां सीता देवी का कहना है कि उन्हें प्रीतम पर पूरा शक है। पुलिस को उससे पूछताछ करनी चाहिए। वहीं एसएसपी हरिद्वार कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि उन्हें ऐसा कुछ नजर नहीं आता है। फिर भी सिपाही के परिजनों को अगर शक है तो प्रीतम से पूछताछ की जाएगी। एसएसपी ने बताया कि प्रीतम के एक महिला की हत्या हरिद्वार में करने की बाबत संपर्क किया था, पर यहां पड़ताल में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है।

Posted By: Jagran