मंगलौर: मोहल्ला मानक चौक स्थित सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में चल रही भागवत कथा के तीसरे दिन कथा व्यास काकशिला पीठाधीश्वर श्री महंत प्रज्ञा भारती ने कहा कि जहां रामायण जीवन जीना सिखाती है, वहीं भागवत मरने के बाद स्वर्ग प्राप्ति का मार्ग दिखाती है। कहा कि भगवान के 24 अवतारों के वर्णन से सनातन धर्म की परंपरा का उल्लेख किया जाता है। जीवन को अमृत्व की ओर किस तरह से ले जाया जा सकता है यह बोध भारत ने ही विश्व को कराया है, जो कि विश्व शांति के लिए भी आवश्यक है। इस अवसर पर महामंडलेश्वर मैत्रेई गिरी, कोटा राजस्थान की महामंडलेश्वर हेमानंद सरस्वती, श्री महंत रीमा गिरी, श्री महंत त्रिवेणी गिरी, साध्वी डॉ. निर्मला गिरी, साध्वी शिरोमणि, पंडित गंगाराम शास्त्री, राम किशन पाल, रोशनी पाल, कुलदीप कपूर आदि मौजूद रहे। (संसू)

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस