Move to Jagran APP

Income Tax Raid : रुड़की में पैरागोन कंपनी पर इनकम टैक्स का छापा, चार दिन से कंपनी में डेरा डाले है टीम

Income Tax Raid हरिद्वार जिले के भगवानपुर में एक कंपनी में इनकम टैक्‍स की छापेमारी से हड़कंप मच गया। भगवानपुर स्थित एक इंडस्ट्रीज पर दिल्ली से आई इनकम टैक्स की टीम ने छापा मारा। इस दौरान कंपनी के स्टाफ को बाहर जाने नहीं दिया गया।

By Deepak mishraEdited By: Nirmala BohraSat, 10 Dec 2022 02:21 PM (IST)
Income Tax Raid : इनकम टैक्‍स की छापेमारी से हड़कंप मच गया।

टीम जागरण, रुड़की : Income Tax Raid : आयकर विभाग की टीम ने भगवानपुर औद्योगिक क्षेत्र स्थित पैरागोन इंडस्ट्रीज में छापा मारा है। पिछले चार दिन से आयकर विभाग की टीम कंपनी में डेरा डाले हुए है।

कंपनी अधिकारियों व कार्यालय कर्मचारियों से जानकारी जुटाई जा रही है। कंपनी अधिकारी व कार्यालय कर्मचारी भी चार दिन से कंपनी में ही है। किसी को भी कंपनी से बाहर आने जाने की अनुमति नहीं दी गई है।

बेहद गोपनीय ढंग से विभाग की यह कार्रवाई चल रही है। स्थानीय आयकर विभाग के अधिकारियों को भी इस कार्रवाई में शामिल नहीं किया गया है।

कंपनी के सभी दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं अधिकारी

भगवानपुर में देहरादून रोड स्थित पैरागोन कंपनी में एल्युमिनियम के उत्पाद बनते हैं। आयकर विभाग की टीम ने बेहद गोपनीय ढंग से सात दिसंबर को कंपनी पर छापा मारा। आयकर विभाग की यह टीम दिल्ली की बताई गई है। आयकर विभाग के अधिकारी कंपनी के सभी दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं।

पिछले चार दिन से आयकर विभाग के अधिकारी कंपनी में ही हैं। यही नहीं कंपनी कार्यालय स्टाफ भी कंपनी में ही है। उन्हें कंपनी से बाहर जाने की अनुमति नहीं है। हालांकि कंपनी में श्रमिक आदि कार्य कर रहे हैं।

स्थानीय आयकर विभाग के आयकर अधिकारी शमीम अहमद से जब कंपनी पर छापे के संबंध में जानकारी की गई तो उन्होंने बताया कि इस संबंध में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। छापे में स्थानीय अधिकारी शामिल नहीं है। बाहर की टीम ही यह कार्रवाई कर रही होगी।

पैरागोन कंपनी के संचालक के 16 ठिकानों पर चल रही कार्रवाई

भगवानपुर की पैरागोन कंपनी में आयकर विभाग की कार्रवाई 15 अन्य स्थानों पर भी चल रही है। एक साथ आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को कंपनी के संचालक दलजीत सिंह व उनके साझेदार कमर अहमद के आवास और कंपनी आदि पर छापे मारे थे।

यह छापे दिल्ली, मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा आदि में मारे गए हैं। बताया गया है कि बड़ी आयकर चोरी की आशंका में यह छापे मारी की गई है।