संवाद सहयोगी, रुड़की: पाडली गुर्जर गांव में डेंगू का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। पाडली गुर्जर गांव में डेंगू के पांच और नये मामले प्रकाश में आए हैं। जिसमें एक महिला और एक बच्चा भी शामिल है। गांव की हरिजन बस्ती में बुखार से अनेक लोग पीड़ित हैं। चार लोगों में प्राथमिक जांच में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। इनमें एक का उपचार सिविल अस्पताल में चल रहा है।

पाडली गुर्जर गांव पर स्वास्थ्य विभाग की विशेष नजर है। इस गांव में लगातार डेंगू के मामले सामने आ रहे हैं। विभाग की ओर से गांव में कीटनाशक का छिड़काव, फागिंग के साथ-साथ आशाओं के माध्यम से लोगों को डेंगू के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है। आशाओं की टीम घर-घर जाकर कीटनाशक दवाओं का भी छिड़काव कर रही है। लेकिन इस सबके बाद भी डेंगू के मामले कम नहीं हो रहे हैं। गांव की हरिजन बस्ती में एक बच्चे समेत चार लोगों में डेंगू के लक्षण मिले हैं। जिसमें रामकुमार, प्रवेश कुमार और ललित के नाम शामिल है। ललित कुमार का उपचार सिविल अस्पताल में चल रहा है। वहीं गांव में एक महिला को भी डेंगू है। उसे उपचार के लिए एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अभी तक पाडली गुर्जर गांव में डेंगू के 15 मामले सामने आ चुके हैं। जिला मलेरिया अधिकारी गुरनाम ¨सह ने बताया कि आशाओं की टीम घर-घर जाकर कीटनाशक दवाओं का स्प्रे कर रही है। साथ ही डेंगू के प्रति लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है।

Posted By: Jagran