जागरण संवाददाता, रुड़की: उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी की फिल्म आयशा द मदर ऑफ बिलीवर को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने प्रतिबंधित की मांग की है। फिल्म प्रदर्शन पर रोक लगाए जाने की मांग लेकर उन्होंने चंद्रशेखर चौक पर फिल्म निर्माता वसीम रिजवी का पुतला फूंका। इसके बाद जुलूस निकालते हुए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय पर पहुंचे और ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के जरिए राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा।

सोमवार को प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा कि फिल्म आयशा द मदर ऑफ बिलीवर में दिखाए गए कई आपत्तिजनक दृश्य मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत करने वाले हैं। कहा कि मुस्लिम समुदाय का समाज में गलत संदेश जाएगा। समुदाय इस फिल्म की घोर निदा करता है। फिल्म के विरोध व रिलीज ना किए जाने को लेकर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेलवाल के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। इस मौके पर आरिफ, आसिफ खान, मोहम्मद आसिफ अहमद, मोहम्मद सरफराज, आमिर, सलीम, शहीद, शाहिद, रोहित सिंह, सादाब, उस्मान, समीर, असद खान, नौशाद, फरीद, अरमान, मोनू, अमित, मुस्तकीम, राहुल, राम अवतार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran