जागरण संवाददाता, रुड़की: सेना में रहते हुए जहां मुनीष चौधरी ने भारत माता की रक्षा की, वहीं सेवानिवृत्त होने के बाद इस संकट की घड़ी में जरुरतमंदों की सेवा में जुटे हुए हैं। मुनीष शहर से लेकर देहात क्षेत्र में घूम-घूमकर भूखों को भोजन करवा रहे हैं। वह प्रतिदिन तकरीबन 120 से अधिक लोगों को वे खाना बांट रहे हैं। उनके इस जज्बे को देखकर हर कोई उनकी प्रशंसा कर रहा है।

कोरोना वायरस ने देश-दुनिया में कहर बरपाया हुआ है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए देशभर में 21 दिनों का लॉकडाउन किया हुआ है। ऐसे में आदर्श शिवाजी नगर निवासी 37 वर्षीय पूर्व सैनिक मुनीष चौधरी लंढौरा में बरात घर में रह रहे राहगीरों, बंजारों, रुड़की में सैपर मार्केट के समीप रह रहे श्रमिकों, रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर घूम-घूमकर भोजन बांट रहे हैं।

मुनीष बताते हैं कि उन्होंने अपने घर पर दो हलवाई रखे हैं। खाना बनाने से पहले उनके हाथों को सेनिटाइज किया जाता है। अपनी गाड़ी में खाना रख वह बांटने के लिए जाते हैं। बताया कि जब तक लॉकडाउन रहेगा तब तक वे प्रतिदिन जरुरतमंदों को इसी तरह से खाना बांटते रहेंगे। मुनीष कहते हैं कि इस संकट की घड़ी में साधन संपन्न लोगों को जरुरतमंदों की मदद को आगे आना चाहिए। वहीं अशोक नगर क्षेत्रीय विकास समिति के अध्यक्ष हर्ष प्रकाश काला के अनुसार मुनीष चौधरी क्षेत्र में दूसरे लोगों के लिए प्रेरणा बने हुए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस