संवाद सहयोगी, हरिद्वार: राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए अधिकारी निर्धारित की गई डेड लाइन से एक माह पहले पूरा करने का लक्ष्य बनाएं, इससे लोगों को मार्ग का लाभ समय के अनुसार मिलना शुरू हो जाएगा।

शनिवार को जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी ने राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण की समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को ये निर्देश दिए। बैठक में राजमार्ग तकनीकी प्रबंधक पीएस पांडे ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग 74 के निर्माण कार्य में आने वाली बाधाओं से जिलाधिकारी को अवगत कराया। बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर सैद्धांतिक स्वीकृति के सापेक्ष 97 वृक्षों के पातन के लिए पत्र वन विकास निगम को भेजा गया है। इसके अलावा श्यामपुर, चिड़ियापुर व रसियाबाड़ रेंज क्षेत्र अवशेष 2670 वृक्षों के पातन के लिए उप वन संरक्षक से ली जानी है। जिस पर डीएम ने संबंधित अधिकारियों को पेड़ों को काटने की अनुमति देने के निर्देश दिए। पीसी पांडे ने बताया कि राजमार्ग पर निर्मित पीली नदी पुल एप्रोच के बहने से पुल को खतरा पैदा हो गया है। जिस पर डीएम ने स्पर बनाने के निर्देश दिए। वहीं, सालियार- साल्हापुर, करोंदी रुड़की में प्रभावित काश्तकारों की ओर से की जा रही मुआवजे की मांग को भी डीएम को बताई। कहा कि इसके कारण निर्माण कार्य में बाधा उत्पन्न हो रही है। डीएम ने सभी प्रकरणों का जल्द निपटारा करने के निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस