जागरण संवाददाता,हरिद्वार: दीपावली से पहले बोनस की मांग को लेकर भेल की हीप और सीएफएफपी की सातों यूनियन ने 20 अक्टूबर से पहले भेल संयुक्त समिति की बैठक बुलाने को प्रदर्शन किया। उन्होंने भेल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की। इधर भेल के संविदा कर्मचारी निवेदक संगठन ने भी त्योहार पूर्व वेतन भुगतान की मांग की है।

हैवी इलेक्ट्रिकल वर्कर्स ट्रेड यूनियन के महामंत्री विकास सिंह ने कहा कि दिपावली नजदीक होने के बावजूद प्रबंधन ने अभी तक बोनस की संयुक्त समिति की तिथि घोषित नहीं की है। कार्यशैली से लगता है कि प्रबंधन मजदूरों को बोनस देने के पक्ष में नहीं है। यदि प्रबंधन ने 20 अक्टूबर तक समिति की बैठक नहीं की तो मोर्चा कारपोरेट कार्यालय में प्रदर्शन को बाध्य होगा। एटक सीएफएफपी के महामंत्री सौरभ त्यागी ने कहा कि भेल प्रबंधन कैंटीन, सब्सिडी और कर्मचारियों को मिलने वाली मेडिकल सुविधा में लगातार कटौती का फरमान जारी कर रहा है प्रबंधन इसे शीघ्र वापस ले। हैवी इलेक्ट्रिकल्स मजदूर यूनियन हीप के महामंत्री मोहित शर्मा और एटक हीप के महामंत्री संदीप चौधरी ने कहा कि भेल प्रबंधन को सेवाकाल में मृत्यु होने पर आश्रित परिवार के एक सदस्य को तत्काल नौकरी पर रखा जाना चाहिए। प्रदर्शन करने वालों में विकास सिंह, रवि कश्यप, सत्यशील वत्स, संदीप चौधरी, अरविद कुमार, अमित गोगना, केएल यादव, भवानी प्रसाद, राकेश मालवीय, विकास चौधरी, राजकुमार, रवि राय, राजवीर सिंह, आदेश कुमार आदि शामिल रहे। इधर समस्त संविदा कर्मचारी निवेदक संगठन ने भी त्योहार पूर्व मासिक वेतन भुगतान की मांग की है। कहा समय से वेतन न मिलने से कर्मचारियों की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। मामला प्रबंधन के संज्ञान में होने के बावजूद कोई समाधान नहीं हो रहा है। इन्होंने लंबित वेतन भुगतान के साथ ही संबंधित संविदा कर्मियों को ब्लैक लिस्ट कर उनका अनुबंध निरस्त करने की मांग की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप