Move to Jagran APP

हरिद्वार में फाइनेंस कंपनी के गुंडों ने दिल्ली पुलिस की टीम पर बोला हमला, दो घायल; चेन लुटेरों की धरपकड़ के लिए थे आए

प्रदेश में दबंगों की दबंगई इस कदर बढ़ गई है कि अब उनसे पुलिस भी अछूती नहीं रही। ऐसा ही एक मामला उत्तराखंड के हरिद्वार जिले से सामने आया है। चेन लुटोरों की तलाश में निकली दिल्ली की एक टीम को ज्वालापुर में एक कंपनी के गुर्गों ने घेर लिया। बाद में साथियों को बुलाकर पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया।

By Jagran News Edited By: Riya Pandey Tue, 09 Jul 2024 08:22 PM (IST)
हरिद्वार में दिल्ली पुलिस की टीम पर दबंगों ने किया हमला (प्रतिकात्मक फोटो)

जागरण संवाददाता, हरिद्वार। चेन लुटेरों की धरपकड़ के लिए निकली दिल्ली पुलिस की एक टीम को ज्वालापुर में फाइनेंस कंपनी के गुर्गों ने घेर लिया। कार की ईएमआई रुकने का हवाला देते हुए गाड़ी छीनने का प्रयास किया। नाकाम होने पर अपने साथियों को बुलाकर पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया।

पुलिसकर्मियों ने पिस्टल दिखा बचाई जान

पुलिसकर्मियों ने अपनी सरकारी पिस्टल दिखा कर जान बचाई। हमले में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस के एक एएसआई ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने धरपकड़ शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक, दिल्ली के रोहिणी जिले की एंटी स्नैचिंग सेल में तैनात एएसआई मनोज कुमार ने ज्वालापुर कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि वह दिल्ली के थाना बेगमपुर में दर्ज एक मुकदमे के आरोपितों की तलाश में वह हैड कांस्टेबल राजेंद्र और नवीन, कांस्टेबल शैलेश के साथ उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के लिए निकले थे।

चार युवकों ने की बदतमीजी

मंगलवार की दोपहर हरिद्वार से दिल्ली लौटने दौरान ज्वालापुर में हाईवे पर झिलमिल ढाबा के पास तीन चार युवकों ने उनकी प्राइवेट कार रोक ली और चाबी निकालने लगे। बदतमीजी करते हुए गाड़ी साइड लगाने को कहा।

कार चला रहे हेड कांस्टेबल राजेंद्र ने गाड़ी साइड में लगाई तो आरोपितों ने बताया कि वह फाइनेंस वाले हैं और कार की ईएमआई टूटी हुई है। इसलिए कार उठाई जाएगी।

आरोपितों ने पुलिसकर्मियों पर किया हमला

आरोप है कि पुलिस टीम ने उनसे परमिशन मांगी तो उन्होंने गाली-गलौच शुरू कर दी। पुलिसकर्मियों ने अपना परिचय देते हुए दिल्ली पुलिस का आई कार्ड भी दिखाया लेकिन उन्होंने गालीगलौच व धक्का मुक्की करते हुए अपने 10-12 और साथियों को बुला लिया। स्कूटी और बाइक पर लाठी डंडे लेकर पहुंचे आरोपितों ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया।

सरकारी पिस्टल दिखाने के बाद आईकार्ड छीनकर हुए फरार

मजबूरी में पुलिसकर्मी ने जब सरकारी पिस्टल दिखाई तब उन्होंने मारपीट बंद की और गाली-गलौच करने लगे। लोकल पुलिस को फोन करता देख आरोपित दिल्ली पुलिस का आई कार्ड छीन कर अपनी गाड़ियों से फरार हो गए। घायल पुलिसकर्मी राजेंद्र और शैलेश का मेडिकल कराने के बाद पुलिस को तहरीर दी गई।

आरोपितों को जल्द किया गया गिरफ्तार

ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी रमेश सिंह तनवार ने बताया कि तहरीर के आधार पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मारपीट, लूट का प्रयास, सरकारी में बाधा पहुंचाने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- एंटी नार्कोटिक टास्क फोर्स कर रही थी चेकिंग, रुकने का किया इशारा तो भागने लगा शख्स; तलाशी में मिली चौकाने वाली चीज

यह भी पढ़ें- आबकारी विभाग में ड्यूटी दे रहे पीआरडी जवान को संदिग्‍ध परिस्थितियों में लगी गोली, Rishikesh AIIMS रेफर