जागरण संवाददाता, हरिद्वार: डीआइजी/ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने कहा कि बलवा व शांति व्यवस्था प्रभावित करने वालों को पुलिस तत्काल गिरफ्तार करें। हरिद्वार में अपनी पहली क्राइम मीटिग लेते उन्होंने विवेचनाओं के त्वरित निस्तारण और घटनाओं के खुलासे पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि बलवा जैसी घटनाओं में आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार करें।

मीटिग में सबसे पहले जिले के पुलिस अधिकारियों ने डीआइजी पद पर पदोन्नति होने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत को बधाई व शुभकामनाएं दी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी मेहनत और लगन से काम करें। ताकि पीड़ित को न्याय मिल सके। सभी लोग अपने कार्यों के प्रति जिम्मेदार बनें, चाहे वह अधिकारी हों या कर्मचारी। लापरवाही किसी भी स्तर पर क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने सर्किल क्षेत्राधिकारी प्रत्येक माह में थाने पर नियुक्त उपनिरीक्षक व कांस्टेबल के कार्यों की समीक्षा करें। जिस कर्मचारी का कार्य संतोषजनक नहीं पाया जाता, उसकी रिपोर्ट बनाकर भेजें। एनडीपीएस के मुकदमों में जेल भेजे गए जरायम पेशेवरों पर गुंडा व गैंगेस्टर जैसी कार्रवाई की जाए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रावत ने कहा कि त्योहारी सीजन में छोटे-छोटे झगड़े बड़ा रूप ले लेते हैं, जिससे तनाव की संभावना रहती है। डीआइजी बनने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत को एसपी क्राइम पीके राय, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसपी देहात परमेंद्र डोबाल, एएसपी सदर डा. विशाखा अशोक, एएसपी ज्वालापुर रेखा यादव, सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह सहित सभी सीओ व थाना-कोतवाली प्रभारियों ने बधाई दी।

फोटो--6 व 7----शांति व्यवस्था बिगाड़ने वालों को तत्काल गिरफ्तार करे पुलिस: रावत

Edited By: Jagran