जागरण संवाददाता,हरिद्वार: एसएमजेएन कॉलेज में शनिवार को छात्र अभिभावक बैठक का आयोजन किया गया। इसमें 80 फीसद से कम उपस्थिति वाले छात्र छात्राओं को आंतरिक परीक्षा में न बैठने देने का निर्णय हुआ।

प्राचार्य डॉ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि पूर्व के वर्षो में महाविद्यालय में उपस्थिति का मापदंड 75 फीसद निर्धारित था, लेकिन वर्तमान में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने उपस्थिति का मापदंड 80 फीसद निर्धारित कर दिया है। बताया कि अनेक छात्र छात्राओं की उपस्थिति मानकों के अनुरूप नहीं है। ऐसे छात्र छात्राओं को आंतरिक परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने सोमवार से शुरू होने वाली आंतरिक परीक्षाओं के लिये छात्र छात्राओं को टिप्स दिए। अधिष्ठाता छात्र कल्याण परिषद डॉ. संजय कुमार माहेश्वरी ने बताया कि कॉलेज की गौरवशाली परंपरा है। उसे आगे बढ़ाने का दायित्व कॉलेज के विद्यार्थियों पर ही है। इस अवसर पर दीक्षा वर्मा, हर्षित चावला, सौम्या बंसल, रमन कुमार, अभिषेक, डॉ. पद्मावती तनेजा, नेहा सिद्दीकी, विनीत सक्सेना, प्रज्ञा जोशी, प्रीति लखेड़ा आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप