संवाद सहयोगी, हरिद्वार: योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि केवल संस्था नहीं है, यह देश के करोड़ों लोगों को अपने आंचल में समेटता विशाल कारवां है। हमारे लिए देश का एक-एक बच्चा हमारे पतंजलि परिवार का अंग है, वह भले ही पतंजलि कभी न आया हो। पतंजलि का लक्ष्य देशभर में ऋषि परंपराएं स्थापित करना है।

योगगुरु बाबा रामदेव बुधवार को पतंजलि योगपीठ में आयोजित वुशु चैंपियनशिप में पहुंचे बच्चों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने यहां पहुंचे सैकड़ों बच्चों को नित्य योगाभ्यास करने का संकल्प कराया। योगगुरु ने कहा हम योग-आयुर्वेद के माध्यम से देश के बच्चों को राष्ट्रीय चेतना से भरना चाहते हैं। इसके लिए पतंजलि योगपीठ से जुड़े योगाचार्य रोजाना देशभर में लाखों की संख्या में योग कक्षाएं चला रही हैं। कहा हर घर को योग-आयुर्वेद से जोड़ने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। वहीं हम बच्चों में ऋषियों के संस्कार डालकर राष्ट्र के भविष्य को सवांरने के लिए संकल्पित हैं।

पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने देश को विश्वगुरु के पद तक पहुंचाने के लिए देश के बच्चों को योग-आयुर्वेद के माध्यम से संस्कारवान बनाने पर जोर दिया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप