जागरण संवाददाता, हरिद्वार : अमेरिका की नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) ने अंतरिक्ष में खोजे गए दो नए तारों के लिए जो सात नाम प्रस्तावित किए हैं, उनमें गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के संस्थापक आचार्य श्री राम शर्मा और उनकी पत्‍‌नी माता भगवती देवी शर्मा का नाम भी शामिल हैं। अब इन सात नामों पर दुनिया भर में इंटरनेट के जरिये वोटिंग कराई जाएगी। इसके बाद ही इन तारों के नाम रखे जाएंगे। वोटिंग की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर 2015 है।

गायत्री तीर्थ शांतिकुंज से मिली जानकारी के अनुसार इस अभियान में दुनिया के 45 देशों से कुल 245 प्रस्ताव भेजे गए थे। भारत से यह जिम्मेदारी बड़ोदा (गुजरात) स्थित वेधशाला के खगोल विज्ञानी दिव्य दर्शन पुरोहित ने निभाई। उन्होंने भारत से आचार्य श्री राम शर्मा और उनकी पत्‍‌नी माता भगवती देवी शर्मा के नाम का प्रस्ताव भेजा। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने कहा कि यह देश के लिए गौरव का विषय है। उन्होंने कहा कि आचार्य श्री राम शर्मा और माता भगवती ने जीवन भर दीन दु:खियों की सेवा करने के साथ ही 3200 पुस्तकों की रचना की।

उन्होंने देशवासियों से अपील की कि वे इंटरनेट के जरिये होने वाले मतदान में भाग लें। कोई भी व्यक्ति ' एचटीटीपी://डब्लयुडब्लयुडब्लयू.नएएमइइएक्सओडब्लयूओआरएलडीएस.आइएयू.ओआरजी/एसवाईएसटीइएमएस/107' पर जाकर मतदान कर सकता है। गौरतलब है कि अब तक नए खोजे गए तारों का नामकरण इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (आइएयू) करती थी। यह पहला मौका है जब नामकरण मतदान के जरिये किया जाएगा।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट