जागरण संवाददाता, ऋषिकेश :

मां दुर्गा की पांचवीं शक्ति स्कंदमाता की पूजा-अर्चना को बुधवार को दुर्गा मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान भक्तों ने देवी के पांचवे स्वरूप की उपासना कर आशीष मांगा।

कात्यायनी मंदिर में मां की पूजा अर्चना को सुबह से ही लोगों की भीड़ देखने को मिली। भक्त कतार बद्ध होकर मां की पूजा-अर्चना के लिए मंदिर के बाहर इंतजार करते रहे। इसके अलावा नगर एवं तीर्थ नगरी से सटे ग्रामीण क्षेत्रों के देवी मंदिरो मे भी पूजा अर्चना को भारी संख्या में लोग पहुंचे।बुधवार को सुबह से ही कात्यायनी मंदिर में लोगों की भीड़ लगी रही। दिनभर मंदिर में भजन कीर्तन का दौर चलता रहा। जिनमें मां के प्रति अटूट आस्था की ब्यार बहती नजर आई। मां दुर्गा के पांचवे स्वरूप स्कंदमाता के बारे में जानकारी देते हुए मंदिर के संस्थापक गुरुविदर सलूजा ने बताया कि भगवान स्कंद की माता होने से ही इन्हें स्कंदमाता कहा जाता है। मां के स्वरूप का ध्यान हमारे जीवन के अंधकारों, प्रतिशोध, लालच, क्रोध व दुर्भावना आदि का शमन करके हममें प्रज्ञा, ज्ञान व तेज आदि सद्गुणों के प्रकाश की ओर ले जाता है। मनीराम मार्ग स्थित दुर्गा शक्ति मंदिर में समिति अध्यक्ष संदीप मल्होत्रा की देखरेख में कार्यक्रम आयोजित किया गया। उपस्थित श्रद्धालुओं ने भजन गाकर माता की शक्ति का गुणगान किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021