जागरण संवाददाता, देहरादून : लगातार दो दिन हुई बारिश और भारी बर्फबारी से मसूरी समेत आसपास के इलाकों में जन जीवन पटरी से उतरा हुआ है। मसूरी-धनोल्टी मार्ग भारी बर्फबारी के कारण तीन दिन से अवरुद्ध है, जिसके चलते करीब 20 पर्यटक धनोल्टी से वापस नहीं लौट पा रहे हैं। उधर, मसूरी-चकराता-त्यूणी मार्ग भी कई स्थानों पर बंद है। प्रशासन और विभाग सड़क मार्ग खोलने में जुटे हुए हैं।

बीते बुधवार को मसूरी सहित समीपवर्ती पहाड़ियों पर हुए भारी हिमपात के बाद से दुश्वारियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। आसमान साफ होने के बावजूद तीन दिन से मोटर मार्ग नहीं खोले जा सके हैं। जबकि कई ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली व पानी की आपूर्ति भी बाधित है। मसूरी और आसपास के क्षेत्रों में सड़क पर बर्फ के ऊपर पाला गिरने से सड़कें खतरनाक हो गई हैं। जेसीबी को भी जमी हुई बर्फ हटाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। मसूरी से उत्तर दिशा की ओर सटे ग्रामीण इलाके मसूरी से पूरी तरह से कट गए हैं। मसूरी-सुवाखोली-धनोल्टी, सुवाखोली-भवान-मोरियाणा-उत्तरकाशी, मसूरी-कैम्पटी मार्गो पर यातायात तीन दिन से बंद है। इसके अलावा शहर में वैवरली-हाथीपांव-जॉर्ज एवरेस्ट-क्लाउड एंड, लाइब्रेरी रोड-कैमल्स बैक रोड, लंढौर गुरुद्वारा चौक से लालटिब्बा-चार दुकान, मलिंगार-जबरखेत-बाटाघाट, जेपी बैंड से बाटाघाट-सुवाखोली मार्गो पर भी यातायात बाधित है। मसूरी के कई इलाकों में बिजली और पानी की आपूर्ति भी दो दिन बाद सुचारू हो पाई।

दून में धूप ने दी राहत

लगातार दूसरे दिन अच्छी धूप खिलने से दून में लोगों ने राहत महसूस की। शुक्रवार को भी दून में दिनभर धूप खिली रही, हालांकि दोपहर बाद मसूरी की पहाड़ियों से चल रही बर्फीली हवाओं ने कुछ कंपकंपी छुड़ाई। सुबह और शाम को दून में कड़ाके की ठंड जारी है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मौसम के मिजाज में कुछ सुधार हो गया है। अब अगले दो दिन दून में अच्छी धूप खिलेगी, जबकि 13 जनवरी से एक बार फिर बादल उमड़ने से बारिश और पहाड़ों में बर्फबारी की संभावना बन रही है। शुक्रवार को दून का अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 21.3 और 4.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस