राज्य ब्यूरो, देहरादून:

गैरसैंण में तीन मार्च से प्रारंभ होने वाले विधानसभा के बजट सत्र से ठीक पहले कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने के एलान से चिंतित सरकार अब सक्रिय हो गई है। इस कड़ी में सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने विभिन्न कर्मचारी संगठनों को गुरुवार को वार्ता के लिए आमंत्रित किया है। यह वार्ता विधानसभा भवन में दोपहर 12 बजे से होगी। प्रदेश सरकार की इस पहल को नाराज कर्मचारियों को मनाने की दिशा में कदम माना जा रहा है।

पदोन्नति में आरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने समेत विभिन्न मांगों को लेकर उत्तराखंड जनरल-ओबीसी इंपलाइज एसोसिएशन ने दो मार्च से हड़ताल का एलान किया है। इससे सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वजह ये कि तीन मार्च से गैरसैंण में बजट सत्र आयोजित हो रहा है। ऐसे में कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से दिक्कतें बढ़ सकती हैं और यह चिंता उसे सताए जा रही है। इस सबको देखते हुए अब सरकार सक्रिय हुई है।

इस क्रम में सरकार के प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने मोर्चा संभाला है। कैबिनेट मंत्री कौशिक ने विभिन्न कर्मचारी संगठनों को गुरुवार को वार्ता के लिए विधानसभा भवन में आमंत्रित किया है। शासन के कार्मिक विभाग की ओर से इस संबंध में उत्तराखंड सचिवालय संघ, उत्तराखंड अधिकारी-कर्मचारी समन्वय मंच और राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद को पत्र भी भेज दिया गया है। वार्ता में विभिन्न विभागों के आला अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

----

'कर्मचारियों को वार्ता के लिए बुलाया गया है। किसी भी मसले का समाधान हड़ताल से नहीं बातचीत से निकलता है। बातचीत के लिए सरकार के दरवाजे हमेशा खुले हुए हैं। कर्मचारी संगठनों से गुरुवार को होने वाली वार्ता में उनकी मांगों पर चर्चा कर समाधान का रास्ता निकाला जाएगा।'

-मदन कौशिक, सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री, उत्तराखंड सरकार।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस