Move to Jagran APP

Uttarakhand Weather: बारिश से सर्दी का U-टर्न, बद्रीनाथ में बर्फबारी; रामनगर में नाले के उफान पर आने से बस बही

Uttarakhand Weather Update उत्तराखंड में मौसम का मिजाज फ‍िर बदल गया है। मौसम विभाग के अनुसार आज शुक्रवार को उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी वर्षा-ओलावृष्टि को सकती है। जिसे लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

By Vijay joshiEdited By: Nirmala BohraPublished: Fri, 31 Mar 2023 06:53 AM (IST)Updated: Fri, 31 Mar 2023 03:30 PM (IST)
Uttarakhand Weather Update: गुरुवार रात से शुरू हुआ बारिश का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा।

जागरण संवाददाता, देहरादून: Uttarakhand Weather Update: उत्तराखंड में मौसम का मिजाज फ‍िर बदल गया है। गुरुवार रात से शुरू हुआ बारिश का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा। इससे एक बार दोबारा ठंड लौट आई है। देहरादून और मसूरी में गुरुवार रात जोरदार बारिश हुई। इस दौरान मसूरी में ओलावृष्टि भी हुई।

ऋषिकेश, कोटद्वार, रुड़की, पौड़ी व टिहरी में रात से हल्की बारिश जारी रही। जिससे मौसम में एक बार फिर से हल्की ठंडक घुल गई है। रुद्रप्रयाग में घने बादल छाए रहे और बारिश हुई। उत्तरकाशी में जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार रात के समय हल्की वर्षा हुई। शुक्रवार की सुबह यहां बादल छाए रहे, वर्षा के आसार बने हुए हैं।

उत्तरकाशी और उसके आसपास के क्षेत्रों में सुबह से हल्की वर्षा हो रही है। जबकि हरसिल घाटी गंगोत्री यमुनोत्री में भी वर्षा हो रही है। वही गंगोत्री और यमुनोत्री की ऊंची चोटियों पर भी हिमपात हो रहा है। इसके अलावा बद्रीनाथ की चोटियों पर भी बर्फबारी हो रही है।

केदारनाथ में हिमपात, लैंसडौन में ओलावृष्टि

शुक्रवार को गंगोत्री-यमुनोत्री और बदरीनाथ-केदारनाथ की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई। उधर, लैंसडौन समेत आसपास के क्षेत्रों में ओलावृष्टि हुई। रुद्रप्रयाग में झमाझम वर्षा हुई, जबकि तुंगनाथ, मध्यमहेश्वर, कार्तिक स्वामी, पंवालीकांठा समेत ऊंची चोटियों पर जोरदार बर्फबारी हुई।

कुमाऊं में वर्षा, ओलावृष्टि व अंधड़ से जनजीवन प्रभावित

कुमाऊं में गुरुवार रात से बदला मौसम का मिजाज शुक्रवार को भी बना रहा। पिथौरागढ़ व बागेश्वर जिले के उच्च हिमालयी इलाकों में हिमपात हुआ। वहीं पहाड़, तराई व भाबर में दोपहर बाद से अधिकांश जगहों पर जोरदार वर्षा, ओलावृष्टि और अंधड़ चलने से जनजीवन प्रभावित हुआ है।

रामनगर में नाले के उफान पर आने से बस बही

नैनीताल जिले के रामनगर में नाले के उफान पर आने से बस किनारे तक बह गई। बस में सवार सभी यात्रियों को सकुशल निकाल लिया गया।

बागेश्वर जिले के हिमालयी क्षेत्र में हिमपात

बागेश्वर जिले में शुक्रवार सुबह से रुक-रुक कर वर्षा हो रही है। हिमालयी क्षेत्र में हल्का हिमपात की सूचना है। जिससे हिमालयी गांवों में जनवरी जैसी ठंड बनी हुई है। वर्षा से किसानों की खड़ी फसलों को नुकसान होने की संभावना है।

आकाशीय बिजली गिरने से गांवों की विद्युत आपूर्ति चरमरा गई है। शुक्रवार की सुबह लगभग तीन घंटे तक वर्षा हुई। सुबह 10 बजे बाद आसमान साफ हो गया और चटक धूप निकली। लोग काम करने के लिए घरों से बाहर निकले। 12 बजे बाद फिर बादल छा गए।

अपराह्न बाद फिर वर्षा का सिलसिला बना हुआ है। वहीं, पिंडर घाटी में रुक-रुक कर हिमपात की सूचना है। जिसके कारण वहां ठंड बढ़ गई है। मार्च माह में रुक-रुक हो रही वर्षा से किसानों को सबसे अधिक नुकसान पहुंच रहा है।

जौं, गेहूं, मसूर आदि की फसल पकने को तैयार है। वर्षा के कारण दाने काले पड़ गए हैं। वहीं, सब्जी और फलों के लिए वर्षा अच्छी मानी जा रही है। आम, लीची के पेड़ों में अच्छा बौर आया है। लेकिन प्याज, लहसून की तैयार खेती को भी नुकसान की संभावना बनी हुई है।

दो अप्रैल तक हल्की वर्षा और हिमपात की संभावना

इधर, जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने कहा कि मौसम विभाग के अनुसार दो अप्रैल तक हल्की वर्षा और हिमपात की संभावना है। अभी तक तहसीलों से किसी भी प्रकार के नुकसान की पुष्टि नहीं है।

भारी वर्षा-ओलावृष्टि का आरेंज अलर्ट

वहीं मौसम विभाग ने आज शुक्रवार को उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी वर्षा-ओलावृष्टि को लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया।

इससे पहले शुक्रवार को सुबह से ज्यादातर क्षेत्रों में चटख धूप खिली रही और तापमान में भारी वृद्धि दर्ज की गई। हालांकि, रात को मौसम ने करवट बदला और दून समेत आसपास के क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ झमाझम वर्षा हुई। जिससे पारे ने गोता लगा लिया। 

देहरादून में गुरुवार को सुबह से खिली चटख धूप के चलते सीजन में पहली बार अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया। तपिश के साथ ही दिन में भीषण गर्मी का एहसास होने लगा। अन्य मैदानी क्षेत्रों में पारे में तेजी से वृद्धि दर्ज की गई।

दून में तेज हवाओं के साथ ही पड़ीं तीव्र बौछारें

ज्यादातर क्षेत्रों में दिन का पारा दो से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। इसके बाद मौसम ने करवट बदली और रात को ज्यादातर क्षेत्रों में बादलों ने डेरा डाल लिया। दून में तेज हवाओं के साथ ही तीव्र बौछारें पड़ीं। कई क्षेत्रों में आकाशीय बिजली गरजने के साथ ओलावृष्टि की भी सूचना है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार प्रदेश में आज शुक्रवार को मौसम का मिजाज बदला रह सकता है। आज पर्वतीय क्षेत्रों में हल्की वर्षा-बर्फबारी और निचले इलाकों में गरज-चमक के साथ ओलावृष्टि हो सकती है।

बागेश्वर, चमोली और पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले इलाकों में भारी हिमपात और वर्षा हो सकती है। जबकि, देहरादून, नैनीताल, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और पौड़ी में झोंकेदार हवाएं चलने के साथ ही कहीं-कहीं भारी वर्षा की चेतावनी है। इसे लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

  • शहर, अधिकतम, न्यूनतम
  • देहरादून, 32.2, 15.0
  • ऊधमसिंह नगर, 32.4, 11.4
  • मुक्तेश्वर, 21.3, 7.3
  • नई टिहरी, 22.4, 9.7

This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.