जागरण टीम, देहरादून। Uttarakhand Weather Update उत्तराखंड में मौसम के कारण उपजी दुश्वारियां कम नहीं हो रही हैं। खासकर पहाड़ों में हाईवे समेत अन्य मार्गों पर लगातार पत्थर और मलबा आने से दिक्कतें बनी हुई हैं। पिथौरागढ़ में तेज हवाओं के साथ बारिश के चलते एक स्कूल की छत उड़ गई। जबकि, बदरीनाथ व गौरीकुंड हाईवे भी मलबा आने से घंटों बाधित रहा। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में रविवार को तेज बौछार के साथ ही कहीं-कहीं भारी बारिश की आशंका है।

शनिवार को प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बादलों का डेरा रहा। हालांकि, बारिश कुछ ही इलाकों में हुई। इसके बावजूद पहाड़ों में भूस्खलन के कारण सड़कों पर मलबा आने से दिक्कतें बनी रहीं। टिहरी जिले के थौलधार विकासखंड की सुदूरवर्ती नगुण पट्टी का कांदला-महेड़ा-कटखेत मोटर मार्ग पिछले 36 घंटों से बंद पड़ा है, जिससे क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों का संपर्क मुख्य राष्ट्रीय राजमार्ग से कटा हुआ है। ग्रामीण आठ किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर हैं।

ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग महादेव चट्टी के पास दो घंटे बंद रहा। राजमार्ग बाधित होने से दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। रुद्रप्रयाग में गौरीकुंड हाईवे भटवाड़ीसैंण व नारायणकोटी में 14 घंटे अवरुद्ध रहा और दोपहर बाद आवाजाही सुचारू हो सकी। वहीं, जिले में 15 ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध हैं, जिससे 40 गांवों का संपर्क कटा हुआ है। पिथौरागढ़ में तेज हवा के साथ हुई भारी बारिश से डीडीहाट तहसील में प्राथमिक विद्यालय कूटा चौरानी की छत उड़ गई।

टनकपुर-तवाघाट हाईवे पर जौलजीबी और धारचूला के मध्य किमखोला में चट्टानें खिसक गईं। इससे आठ घंटे यातायात ठप रहा। थल-मुनस्याारी मार्ग पर हरड़िया पुल की नींव की दीवार खतरे में आ गई। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार अगले चार दिन कई इलाकों में बारिश का क्रम जारी रह सकता है। उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, पिथौरागढ़ व बागेश्वर में कहीं-कहीं भारी बारिश के आसार हैं।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Weather Update: सिरोबगड़ में बादल फटने से तेल का टैंकर अलकनंदा में समाया, दो लापता

उच्च हिमालीय क्षेत्रों में सीजन का तीसरा हिमपात

हल्की बारिश के बीच उच्च हिमालयी क्षेत्र में शनिवार को सीजन का तीसरा हिमपात हुआ। इससे राजरंभा, पंचाचूली, नंदा देवी, नंदा कोट की चोटियां चमक उठीं। मौसम विभाग के अनुसार इस वर्ष मध्य अगस्त के बाद यह तीसरा हिमपात है। इससे पहले बीते 17 और 30 अगस्त को भी चोटियों पर हल्का हिमपात हो चुका है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: अनियमित बारिश ने बिगाड़ा मानसून का 'गणित', सितंबर में सामान्य से अधिक बरस रहे बादल

Edited By: Raksha Panthri