संवाद सहयोगी, मसूरी। Uttarakhand Tourism कोविड गाइडलाइन और प्रतिबंधों में रियायत मिलने पर मसूरी, धनोल्टी, कैम्पटीफाल में घूमने आने के लिए पर्यटक लगातार होटलों से फोन पर संपर्क कर रहे हैं। होटलों में कमरों के लिए बुकिंग भी शुरू हो गई है। उम्मीद है, जून के बाकी बचे दो सप्ताह में काफी संख्या में पर्यटक मसूरी पहुंचेंगे, लेकिन सबसे बड़ी परेशानी यह है कि अभी तक सभी पर्यटक स्थल बंद पड़े हैं। इससे पर्यटक स्वच्छंद घूम नहीं पा रहे हैं।

उत्तराखंड होटल एसोसिएशन अध्यक्ष संदीप साहनी का कहना है कि शहर के लगभग 60 प्रतिशत होटल खुल चुके हैं। इस वीकेंड के लिए गुरुवार तक 40 प्रतिशत बुकिंग मिल चुकी है, बाजार अभी पूरी तरह से नहीं खुले हैं। रेस्टोरेंट और ढाबे में बैठाकर खाना नहीं परोसा जा रहा है, पर्यटक स्थल भी बंद हैं। ऐसे में पर्यटक थोड़ी दुविधा में हैं। पर्यटन व्यवसाय से जुड़े व्यक्तियों की मांग है कि पिकनिक स्पाट खोले जाएं, रेस्टोरेंट और ढाबों में बैठाकर खाना खिलाने की इजाजत दी जाए और बाजार सामान्य दिनों की तरह खोले जाएं।

मसूरी होटल एसोसिएशन अध्यक्ष राकेश नारायण माथुर और महासचिव संजय अग्रवाल का कहना है कि 19 जून से शुरू हो रहे वीकेंड के लिए 20 से 40 प्रतिशत तक बुकिंग आ चुकी है, लेकिन बाजार बंद होने से पर्यटक आने में संकोच कर रहे हैं। वह बताते हैं कि अभी पर्यटक परिवार समेत नहीं आ रहे हैं। उन्होंने शहर में कम से कम तीन स्थानों पर रैपिड एंटीजन टेस्ट केंद्र खोलने की मांग की है। उनका मानना है कि आने वाले दो सप्ताह पर्यटन के लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। होटल जेपी रेजीडेंसी मनोर के वाइस प्रेसीडेंट अनिल शर्मा बताते हैं कि गुरुवार तक होटल में आने वाले वीकेंड के लिए 40 प्रतिशत कमरे बुक हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें- Water Conservation: वर्षा जल के संरक्षण को बना दिए दस हजार जल तलैया, कलम सिंह नेगी के प्रयासों से रिचार्ज हुए प्राकृतिक जलस्रोत

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri