ऋषिकेश, जेएनएन। चंद्रभागा नदी के समीप बसी भैरव कॉलोनी में एक विवाह समारोह में शामिल होने आए दो युवक ट्रांसफार्मर की चपेट में आकर झुलस गए। जिन्हें राजकीय चिकित्सालय से गंभीर हालत में कोरोनेशन हॉस्पिटल देहरादून रेफर किया गया है। दोनों युवक यहां विवाह समारोह में शामिल होने आए थे। दोनों ही वधू के रिश्ते में मामा लगते हैं। शुक्रवार को भैरव कॉलोनी चंद्रभागा नदी तटबंध के समीप एक युवती की शादी थी। यहां अंबाला से बारात आई थी। विवाह संपन्न हो चुका था। विवाह में शामिल होने आए कुछ युवक शुक्रवार रात्रि करीब 8:15 बजे समीप तटबंध के ऊपर बनी सड़क पर खड़े थे।

कुछ ही दूरी पर 11000 केवी लाइन से जुड़ा ट्रांसफार्मर लगा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक युवकों के झुंड से एक युवक संजीत (21 वर्ष) पुत्र मुंशीराम निवासी भैरव कॉलोनी अचानक ट्रांसफार्मर की ओर बढ़ा और वह इसकी जाली पर चढ़ गया। इसे रोकने के लिए पीछे से किशन (22 वर्ष) पुत्र नेपाली निवासी भैरव कॉलोनी ऋषिकेश गया। उसने जैसे ही ट्रांसफार्मर की जाली को पकड़ा तो उसे बिजली का तेज झटका लगा, वह दूर जा गिरा। इस बीच संजीत एचटी लाइन जो 250 केवीए ट्रांसफार्मर से जुड़ती है के संपर्क में आ गया और उसके शरीर के निचले हिस्से ने आग पकड़ ली। ट्रांसफार्मर की जाली पर लटका संजीत पैर के हिस्से से जलता रहा। उसके कपड़ों से तेज लपटें उठने लगी। इस बीच ट्रांसफार्मर ने भी आग पकड़ ली। 

स्थानीय नागरिकों ने पुलिस कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंचे कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने बताया कि तत्काल संबंधित क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बंद कराई गई। मौके पर घाट चौकी प्रभारी उत्तम रमोला समेत पुलिस कर्मियों ने बांस के डंडे की सहायता से झुलस रहे संजीव को नीचे उतारा। दोनों युवकों को राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया। जहां इनकी गंभीर हालत को देखते हुए इन्हें कोरोनेशन हॉस्पिटल देहरादून रेफर कर दिया गया है। झुलसी दोनों युवक मधु के रिश्ते के मामा लगते हैं।

आधा घंटे बाद पहुंची फायर ब्रिगेड

ट्रांसफार्मर में आग और हादसे की सूचना अग्निशमन विभाग को भी दी गई थी। घटना करीब 8:15 बजे की है। करीब आधे घंटे के बीच संबंधित क्षेत्र की लाइट कट गई थी। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह, चौकी प्रभारी उत्तम रमोला तत्काल मौके पर पहुंच गए थे। लेकिन फायर ब्रिगेड की टीम नहीं पहुंची। जब मौके से दोनों घायलों को चिकित्सालय भेज दिया गया, पुलिस की टीम यहां से चली गई तो करीब 8:45 बजे फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर पहुंची। तब तक वहां पर विभाग के करने के लिए कुछ नहीं बचा था।

यह भी पढ़ें: रुड़की के भगवानपुर में खाना बनाते समय फटा सिलिंडर, छह लोग झुलसे

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप