संवाद सहयोगी, विकासनगर: नगर के बाजार से होकर गुजरने वाले दिल्ली-यमनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के डिवाइडर पर लगे पेड़ बाजार क्षेत्र के लिए खतरा बन रहे हैं। आंधी बारिश के समय में पेड़ों के बड़े टहनों के टूटने की आशंका बाजार क्षेत्र में हर समय बनी हुई है। उधर, पेड़ अत्यधिक बड़े हो जाने से पथ प्रकाश के लिए लगी स्ट्रीट लाइट की रोशनी भी सड़कों तक नहीं पहुंच रही है।

13 साल पहले विकासनगर बाजार से गुजरने वाले दिल्ली-यमनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण के समय बाजार में लगे पेड़ों को काट दिया गया था। नगर के पर्यावरण को संतुलित रखने के लिए बाजार क्षेत्र में बने डिवाइडर पर कदम के पौधे उसी समय लगाए गए थे। समय के साथ बढ़ते हुए अब यह पौधे वृक्ष का रूप ले धारण कर चुके हैं, लेकिन वृक्ष से जहां पर्यावरण को काफी लाभ मिल रहा है वहीं यह दुर्घटना की आशंका को भी बढ़ा रहे हैं। जून में चली तेज हवाओं के साथ इन पेड़ों के बड़े टहने टूटकर सड़कों पर आ गिरे थे। इसके अलावा नगर के सौंदर्यकरण व पथ प्रकाश की सुविधा के तहत डिवाइडर पर लगे स्ट्रीट लाइट से वृक्षों की टहनियों-पत्तियों के कारण प्रकाश भी सड़कों तक नहीं पहुंच रहा है। उत्तराखंड जनजागृति मंच के प्रदेश महासचिव सुशील कुक्की, संजय शर्मा कौशिक, विजयपाल लोधा, रमन, ऋतु ठाकुर ने नगर पालिका प्रशासन से समस्या के संबंध में आवश्यक कदम उठाने की मांग की है। उधर, नगर पालिका अध्यक्ष शांति जुंवाठा का कहना है कि समस्या के संबंध में वन विभाग के अधिकारियों से बात करके आवश्यक कदम उठाया जाएगा। फिल्हाल बरसात के मौसम को देखते हुए वृक्षों की नियमानुसार लापिग कराई जाएगी।

Edited By: Jagran