जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: आजादी का अमृत महोत्सव के तहत नगर निगम और स्थानीय प्रशासन की ओर से नगर में तिरंगा रैली धूमधाम से निकाली गई। बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों के साथ संत समाज और शहीदों के स्वजन इसमें शामिल हुए।

भारत माता की जय का उद्घोष करते न‍िकाली रैली

श्री भरत मंदिर इंटर कालेज स्टेडियम से तिरंगा यात्रा को क्षेत्रीय सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, नगर निगम की महापौर अनीता ममगाईं ने रवाना किया। नगर के मुख्य मार्गो पर भारत माता की जय, वंदे मातरम का उद्घोष करते हुए रैली में शामिल नागरिक और स्कूली छात्र छात्राएं त्रिवेणी घाट पहुंचे। यहां ऐतिहासिक गांधी स्तंभ पर सांसद निशंक और महापौर ने पुष्पांजलि अर्पित कर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और शहीदों को याद किया।

सेनानियों के बलिदान का प्रतिफल देश की स्वतंत्रता

त्रिवेणी घाट में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए सांसद निशंक ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बलिदान का प्रतिफल देश की स्वतंत्रता है। इसकी रक्षा करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है।

आंदोलन में संतों का म‍िला मार्गदर्शन

उन्‍होंने कहा क‍ि तपोभूमि ऋषिकेश का आजादी के आंदोलन में विशेष योगदान रहा है। यहां के संतों का आंदोलन में मार्गदर्शन मिला है। आने वाली पीढ़ी को इतिहास को याद आते हुए भविष्य को संवारने की जरूरत है।

आजादी के आंदोलन में ऋषिकेश का रहा अग्रणी योगदान

महापौर अनीता ममगाईं ने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान को ऋषिकेश क्षेत्र में शत-प्रतिशत सफल बनाया जा रहा है। प्रत्येक घर में तिरंगा लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। आजादी के आंदोलन में ऋषिकेश का अग्रणी योगदान रहा है। त्रिवेणी घाट में स्थित गांधी स्तंभ आजादी के लिए हुए आंदोलन का गवाह है।

एकता और अखंडता के ल‍िए म‍िलकर करना होगा काम

उन्होंने कहा कि अमृत महोत्सव एक दिन का उत्सव नहीं है, पूरे वर्ष देश की एकता और अखंडता के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा।कार्यक्रम में भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री संगठन दीप्ति रावत, नगर आयुक्त राहुल कुमार गोयल, उप जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह नेगी, महामंडलेश्वर दयाराम दास महाराज, महंत रवि प्रपन्नाचार्य, क्षेत्र के शहीदों के स्वजन आदि शामिल हुए।

Uttarakhand News: उत्‍तराखंड में बेसिक के 22 हजार शिक्षकों को मिलेंगे टेबलेट

Edited By: Sumit Kumar