देहरादून, [जेएनएन]: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और रेलवे ग्राहक सर्विस में एक नवंबर से कुछ बदलाव किए हैं। जहां एसबीआइ एटीएम से कैश निकालने की लिमिट को घटाई है, वहीं रेलवे भी लाइन में लगने के झंझट को खत्म कर यात्रियों को दीपावली का तोहफा दिया है। 

अब रेल यात्री घर बैठे ट्रेन का जनरल टिकट बुक करा सकते हैं। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की बात करें तो बैंक ने अपने खाताधारक व एटीएम धारकों के लिए 31 अक्टूबर से एटीएम से कैश निकासी की नई लिमिट लागू करने का ऐलान किया है। अब एसबीआइ के क्लासिक व मैस्ट्रो डेबिट कार्ड धारक 31 अक्टूबर से सिर्फ 20 हजार रुपये प्रतिदिन निकाल सकेंगे। जबकि अभी तक यह सीमा 40 हजार रुपये प्रतिदिन थी।

उधर, भारतीय रेलवे यात्रियों के लिए टिकट बुकिंग में नई सर्विस की शुरुआत की है। इसके तहत जनरल टिकट के लिए अब लोगों को घंटों लाइन में नहीं लगना पड़ेगा। रेलवे एक नवंबर से पूरे देश में यूटीएस मोबाइल एप की शुरुआत की है। यूटीएस मोबाइल एप एंड्रॉयड, आइओएस और विंडोज फोन तीनों ही प्लेटफॉर्म पर काम करेगा। एप को डाउनलोड करने के बाद इस पर यूजर आइडी और पासवर्ड बनाना होगा। इसके साथ ही बुकिंग के दौरान यात्री को रेलवे स्टेशन के 25 से 30 मीटर की दूरी पर रहना जरूरी है। इस एप के माध्यम से यात्री केवल चार टिकट ही बुक करा सकेंगे। 

पांच दिन बंद रहेंगे बैंक 

नवंबर की शुरुआत में बड़े त्योहार आ रहे हैं। जिसके चलते बैंक सात नवंबर से लगातार पांच दिन बंद रहेंगे। आरबीआइ की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार सात नवंबर को दीपावली, आठ नवंबर को गोवर्धन पूजा और नौ नवंबर को भाईदूज के कारण बैंक बंद रहेंगे। इसके बाद 10 नवंबर को दूसरे शनिवार और 11 नवंबर को रविवार का अवकाश रहेगा।

ओपीडी अब सुबह नौ से दोपहर तीन बजे तक

यदि आप इलाज के लिए किसी सरकारी अस्पताल जा रहे हैं, तो ध्यान दें। एक नवंबर से सरकारी अस्पतालों में ओपीडी का समय बदल गया है। फरवरी तक ओपीडी सुबह नौ बजे शुरू होगी। दून मेडिकल कॉलेज के टीचिंग अस्पताल सहित सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी का समय एक नवंबर से बदल गया है। मेडिकल कॉलेज अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके टम्टा ने बताया कि अभी तक ओपीडी सुबह आठ बजे शुरू होती थी और चिकित्सक दो बजे तक मरीज देखते थे।एक नवंबर से सर्दियों की समय सारिणी लागू हो जाती है। ओपीडी सुबह नौ बजे शुरू होगी और इसके बंद होने का वक्त दो की बजाय दोपहर तीन बजे होगा। पंजीकरण सुबह नौ बजे से दोपहर ढाई बजे तक होंगे। इसी तरह आपातकालीन मामलों को छोड़कर एमआरआइ, अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे, ईसीजी, ईईजी के अलावा विभिन्न पैथोलॉजी जांच भी सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक ही की जाएंगी। दवा काउंटर बंद होने का समय साढ़े तीन बजे होगा।

यह भी पढ़ें: दीपावली से पहले राज्य कर्मचारियों को बोनस का तोहफा

यह भी पढ़ें: त्योहार में बिगड़ा बजट, 59 रुपये महंगी हुई रसोई गैस

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस