जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: श्रीनगर गढ़वाल से कार में गंगा में कूदकर आत्महत्या करने आए एक युवक को पुलिस ने सूझबूझ और तत्परता का परिचय देते हुए आत्मघाती कदम उठाने से रोक लिया।

बुधवार को थाना मुनिकीरेती के प्रभारी निरीक्षक कमल मोहन भंडारी को हरिओम राज चौहान प्रभारी निरीक्षक कोतवाली श्रीनगर ने अपने मोबाइल से सूचना दी कि एक व्यक्ति जो श्रीनगर का रहने वाला है,जो अपनी कार से श्रीनगर से आया है। जिसने अपने घर वालों को बताया है कि मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं।

प्रभारी निरीक्षक भंडारी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल चौकी शिवपुरी, ब्यासी और गूलर चौकी पर उपस्थित एसडीआरएफ को उक्त युवक की तलाश तथा आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कांस्टेबल मनीष रावत,पंकज रावत, प्रकाश कुमार एसडीआरएफ के साथ जब व्यासी के पास मालाखुंटी पुल के पास पहुंचे तो सड़क पर किनारे उक्त वाहन खड़ा दिखाई दिया। वहां पर गंगा नदी किनारे एक युवक बैठा दिखाई दिया, जो मानसिक तनाव में लग रहा था। शक होने पर कि यह युवक गंगा में छलांग लगाने वाला है तभी तत्परता दिखाते हुए पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में उक्त युवक ने बताया कि वह श्रीकोट, श्रीनगर में रहता है, वह अपने परिवार वालों व रिश्तेदारों से नाराज होकर गंगा नदी में छलांग लगाने आया था। उसका घर पर संपत्ति को लेकर परिवार वालों से विवाद चल रहा है।उसकी श्रीकोट में ज्वेलरी की दुकान भी है। वह घर पर सुसाइड नोट भी लिख कर आया है। प्रभारी निरीक्षक कमल मोहन भंडारी ने बताया कि पुलिस टीम ने उक्त युवक अमित लिगवाल निवासी ग्राम कुंडली थाना हिडोला खाल हाल निवासी श्रीकोट थाना श्रीनगर जनपद पौड़ी गढ़वाल को अपने साथ लेकर थाने ले आये। युवक के स्वजन को पुलिस ने सूचित कर दिया है। जिनके यहां पहुंचने पर युवक को उनके सुपुर्द कर दिया गया।

Edited By: Jagran