देहरादून, राज्य ब्यूरो। ऊर्जा के तीन निगमों, कोरोनेशन अस्पताल, सभी 13 जिलों में खनिज न्यासों और अशासकीय विद्यालयों में कार्यरत सीटी संवर्ग के शिक्षकों के संविलियन और वेतन निर्धारण में गड़बड़ी का स्पेशल ऑडिट कराया जाएगा। ये ऑडिट हाई रिस्क श्रेणी में रखे गए हैं। पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल से अब तक श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति का भी स्पेशल ऑडिट होगा। हाई रिस्क ऑडिट में छह मामले शामिल किए गए हैं। वित्त सचिव अमित नेगी ने हाई रिस्क और लो रिस्क ऑडिट के संबंध में आदेश जारी किए हैं। 

विभिन्न विभागों की ओर से अपने अधीनस्थ आहरण वितरण अधिकारियों के कार्यालयों का स्पेशल ऑडिट करने के संबंध में वित्त महकमे को पत्र भेजे थे। देहरादून, हरिद्वार, उत्तरकाशी, टिहरी, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, चमोली, ऊधमसिंहनगर, नैनीताल, चंपावत, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिलों में खनिज न्यास का स्पेशल ऑडिट होगा। ऊर्जा महकमे के तहत ऊर्जा निगम, पारेषण निगम और जलविद्युत निगम में गड़बड़ियों की शिकायत पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्पेशल ऑडिट कराने के आदेश दिए थे। 
इसके बाद ऊर्जा सचिव की ओर से इस संबंध में वित्त से स्पेशल ऑडिट कराने का अनुरोध किया गया था। पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय कोरोनेशन चिकित्सालय देहरादून, माध्यमिक शिक्षा के तहत सरकारी और अशासकीय विद्यालयों में सीटी संवर्ग शिक्षकों का भी स्पेशल ऑडिट होगा। पंतनगर विश्वविद्यालय में शिक्षकों व समकक्षों को वेतनमान, एश्योर्ड कैरियर प्रोग्रेशन और पदोन्नति को लेकर शिकायतों को देखते हुए स्पेशल ऑडिट को मंजूरी दी गई है। राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों और कार्मिकों को गलत तरीके से एसीपी और तदर्थ पदोन्नति का स्पेशल ऑडिट कराने के आदेश जारी किए गए हैं। 
पिछली कांग्रेस सरकार के कार्यकाल 2016-17 से लेकर 2019-20 तक श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति का स्पेशल ऑडिट कराया जा रहा है। इसके लिए सात ऑडिट टीम को जिम्मेदारी दी गई है। ये टीम 12 दिन में अपना काम पूरा करेंगी। ये स्पेशल ऑडिट लो रिस्क श्रेणी में है। लो रिस्क स्पेशल ऑडिट के दायरे में उत्तराखंड उर्दू अकादमी, उपनिबंधक हल्द्वानी, इको टास्क फोर्स वन और पर्यावरण मंत्रालय की वर्ष 2019-20 अवधि का स्पेशल ऑडिट होगा। सिख गुरुद्वारा श्री गुरु सभा के वित्तीय प्रकरण की जांच और जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण नैनीताल की सोसाइटी का ऑडिट कराया जा रहा है। उत्तरकाशी जिले में न्यू खालसी ग्राम पंचायत की पूर्व प्रधान अशरफी देवी की ओर से मनरेगा में फर्जी भुगतान और घटिया निर्माण कार्यों की जांच भी स्पेशल ऑडिट में होगी।
एक हाई रिस्क ऑडिट
कई वर्षों से ऑडिट न किए जाने के मामले शामिल। हाई रिस्क की ऑडिट रिपोर्ट को शासन स्तर पर गठित एक्सपर्ट कमेटी अनुमोदित करेगी।
दो लो रिस्क ऑडिट
इस ऑडिट रिपोर्ट को निदेशालय स्तर पर गठित कमेटी अनुमोदित करती है, इसे निदेशालय स्तर से जारी किया जाता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021