संवाद सूत्र, डोईवाला : बड़कोट रेंज के रानीपोखरी कंपाउंड छह भट्ट नगरी में वन विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 30 बीघा भूमि से प्लाटिंग और हो रहे अवैध अतिक्रमण का ध्वस्त किया। उसके बाद वन विभाग ने चारो तरफ खाई खोद दी। कुछ लोगों ने इस कार्रवाई का विरोध भी किया लेकिन टीम के समक्ष उनका विरोध ज्यादा देर टिक नहीं सका।

बड़कोट रेंज के रानीपोखरी कंपाउंड छह भट्ट नगरी में भू माफिया ने वन विभाग की करीब 30 बीघा भूमि पर कब्जा कर प्लाटिंग कर दी थी। साथ ही कई जगह पर निर्माण भी शुरू हो गए थे। सोमवार को

वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर वन भूमि की पैमाइश की और वहां किए गए अतिक्रमण को हटाने का निर्णय लिया। मंगलवार को रेंज अधिकारी केशव सिंह नेगी के नेतृत्व में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। टीम ने जेसीबी से प्लाटिंग और अवैध निर्माण को ध्वस्त किया। उसके बाद इस भूमि के चारों ओर वन विभाग ने जेसीबी के माध्यम से खाई खोद दी जिससे कोई भी इस भूमि पर दोबारा अतिक्रमण नहीं कर सकें। साथ ही अवैध निर्माण के लिए सामग्री वहां पर पहुंच न सकें। रेंज अधिकारी ने बताया कि वन भूमि से लगती कुछ अन्य जमीन है। इसी का फायदा उठाते हुए भूमाफिया ने वन विभाग की भूमि पर कब्जा कर प्लाटिंग कर दी थी। उसके बाद इस प्लाटिंग में अवैध निर्माण भी शुरू हो गया था। उन्होंने बताया कि जब यह मामला सामने आया तो इसकी सूचना उपजिलाधिकारी ऋषिकेश और डीएफओ को भी दी गई। उसके बाद उनके निर्देश में वन विभाग ने राजस्व विभाग के साथ इस जमीन की संयुक्त पैमाइश की। पैमाइश में करीब तीस बीघा भूमि पर अतिक्रमण पाया गया और यह भूमि वन विभाग की निकली। फॉरेस्ट अधिकारी चंद्रशेखर भट्ट ने बताया कि इस मामले में लंबे समय से जांच व अन्य प्रक्रिया चल रही थी। उसके बाद मंगलवार को 30 बीघा भूमि पर हुए कब्जे का मुक्त करा कर वहां पर गहरी खाई खोद दी गई है। अतिक्रमण हटाने वाली टीम में वन सुरक्षा दल के प्रभारी राजकुमार वर्मा, डिप्टी रेंजर रमेश रावत, अनूप कंडारी, चंद्रपाल सिंह मनवाल, योगेंद्र सिंह आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस