देहरादून, जेएनएन। हैदराबाद कांड के बाद देहरादून की पुलिस भी एक्शन प्लान बनाने में जुट गई है। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि सभी थानों को निर्देशित किया गया है कि वह थाने में आने वाली हर सूचना पर त्वरित और गंभीरता पूर्वक कार्रवाई करें। गैर थाना क्षेत्र का मामला बताकर शिकायतकर्ता को टहलाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

गौरतलब है कि देहरादून की पहचान शिक्षानगरी के रूप में है और यहां बड़ी संख्या में गैर प्रांतों से लेकर विदेश तक के छात्र और छात्राएं पढ़ते हैं। वहीं कई बड़े संस्थानों में काम करने वाली युवतियों को देर रात भी सफर करना पड़ता है। ऐसे में हैदराबाद कांड को लेकर देहरादून पुलिस का चिंतित होना लाजिमी है। 

एसएसपी ने बताया कि बीते तीन महीनों के दौरान उनका पूरा फोकस रात दस बजे के बाद से भोर तक होने वाली गश्त और पिकेट की तैनाती पर रहा है। इसके नतीजे भी सामने आए हैं। रात के समय होने वाले अपराधों में कमी आई है। 

एसएसपी ने बताया कि इस बाबत एसपी सिटी, एसपी ग्रामीण समेत सभी क्षेत्राधिकारियों की बैठक ली गई, जिसमें उन्हें निर्देशित किया गया है कि वह रात के समय होने वाली गश्त और पिकेट की मुस्तैदी पर फोकस करें। दिन या रात कभी भी कोई ऐसी सूचना आती है, जो उनके थाना क्षेत्र की नहीं है। फिर भी वह उसे पूरी अहमियत देंगे और संबंधित को अवगत कराने के साथ खुद भी हरसंभव कार्रवाई करेंगे। 

यह भी पढ़ें: अब प्री मैरिज काउंसलिंग से घुलेगी रिश्तों में 'मिठास', महिला आयोग ने की पहल

कंट्रोल रूम को भी किया अलर्ट

एसएसपी ने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम और महिला हेल्पलाइन के प्रभारी को अलर्ट किया गया है। वह किसी छात्रा या महिला की ओर से मदद के लिए आने वाले फोन कॉल को गंभीरता से सुनते हुए कार्रवाई करेंगे।

यह भी पढ़ें: देहरादून में भी हो रहा बाल विवाह, कुछ मामले आ चुके हैं सामने; पढ़िए इस खबर में

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस