देहरादून, राज्य ब्यूरो। जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत प्रमुखों के लिए अंतिम आरक्षण तय होने के बाद कांग्रेस भी प्रत्याशियों को चुने जाने की कवायद को अंतिम रूप देने में जुट गई है। प्रत्याशियों की सूची जारी करने का काम जल्द प्रारंभ होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रत्याशियों की सूची अगले कुछ दिनों में जारी की जाएगी। 

कांग्रेस ये पहले ही साफ कर चुकी है कि जिला पंचायतों और क्षेत्र पंचायतों में प्रमुखों के चुनाव को पूरी मजबूती से लड़ा जाएगा। यह दीगर बात है कि पार्टी ने आरक्षण की अंतिम स्थिति जारी होने से पहले जिला पंचायतों के अध्यक्ष पदों के लिए सूची घोषित करने से गुरेज किया। 

पंचायत चुनाव में कांग्रेस पार्टी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। इसे देखते हुए पार्टी सावधानी से आगे बढ़ रही है। भाजपा की ओर से उसके किले में सेंध न लगाई जाए, इस पर खास जोर है। हालांकि पार्टी की ओर से क्षेत्र पंचायतों और जिला पंचायतों के प्रमुख पदों के दावेदारों और संभावित प्रत्याशियों पर लंबे अरसे से मंथन चल रहा है। कोशिश आम सहमति से प्रत्याशियों को चुनने की है। 

जिला पंचायतों में कांग्रेस समर्थित करीब 52 जिला पंचायत विजयी हुए हैं। 150 सदस्य ऐसे हैं, जिन्हें पार्टी अपनी विचारधारा से जुड़ा बता रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि ब्लॉक प्रमुखों के साथ ही जिला पंचायतों में पार्टी अपने उम्मीदवार उतारेगी। इस संबंध में वरिष्ठ नेताओं और जिला स्तर पर पार्टी के सक्रिय लोगों के साथ विचार विमर्श किया जा रहा है। प्रत्याशियों के संबंध में खाका तैयार हो चुका है। इसे जल्द अंतिम रूप देकर आगामी कुछ दिनों के भीतर प्रत्याशियों की सूची जारी की जाएगी।

भाजपा ने घोषित किए प्रमुख पदों के आठ और प्रत्याशी

ब्लाक प्रमुख पदों के लिए भाजपा ने अपने आठ और उम्मीदवारों की सूची जारी की है। इनमें चार गढ़वाल और चार कुमाऊं मंडल के लिए हैं। इसके साथ ही पार्टी अब तक ब्लाक प्रमुख के 89 पदों में से 61 पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। 

वहीं, जिला पंचायत अध्यक्ष के 12 में से शेष रह गए तीन पदों के लिए भी प्रत्याशियों के नाम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इनकी घोषणा एक-दो दिन में कर दी जाएगी। प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद प्रदेश महामंत्री राजेंद्र भंडारी ने मंगलवार को प्रमुख पदों के आठ उम्मीदवारों की सूची जारी की। 

इनमें पूनम (गदरपुर), हरीश बिष्ट (भीमताल), विनीता बाफिला (बेरीनाग), जीवन भट्ट (कोटाबाग), दलवीर सिंह दानू (देवाल), अरविंद रावत (नौगांव), उत्तम सिंह नेगी (कीर्तिनगर) व राकेश भारद्वाज (जयहरीखाल) शामिल हैं। प्रदेश महामंत्री भंडारी ने बताया कि इसके साथ ही पार्टी अब तक ब्लाक प्रमुख के 61 पदों पर प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। शेष प्रत्याशियों की सूची भी एक-दो दिन में जारी कर दी जाएगी।

जिला पंचायत के 20-25 सदस्य होटलों में कैद

पंचायत चुनाव में जीतने वाले जिला पंचायत सदस्य अपने-अपने घरों से गायब हैं। सूत्रों की माने तो सभी सदस्यों को सहस्रधारा रोड स्थित एक होटल में ठहराया गया है। या कहें कि उन्हें कैद किया गया है।

राजधानी दून में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सीट पर जीत हासिल करने वाले लगभग 20-25 सदस्य अपने-अपने घरों से गायब हैं। उनके स्वजन भी गायब होने पर चुप्पी साधे हुए हैं। सूत्रों की मानें तो जिला पंचायत अध्यक्ष पद के उम्मीदवार ने इन सभी जिपं सदस्यों को अपने पक्ष में करने के लिए कसरत शुरू कर दी है। सभी सदस्यों को सहस्रधारा रोड स्थित एक होटल में ठहराया गया है। 

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनावः सहसपुर से सीमा नेगी का ब्लॉक प्रमुख बनना तय Dehradun News

सूत्रों की माने तो जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव वाले दिन ही इनको होटल से सीधे जिला पंचायत भवन में पहुंचाया जाएगा। इस संबंध में पंचायती राज मंत्री अरविंद पांडे का कहना है कि राजनीति में खरीद फरोख्त और धन दौलत का प्रलोभन नहीं आना चाहिए। चुनाव ईमानदारी से होना चाहिए। यदि इसके बावजूद किसी व्यक्ति या दल को खरीद फरोख्त की शिकायत मिलती है या वो खुद पीड़ित है तो वह कानून की मदद ले सकता है। सरकार उसके साथ है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में जिला पंचायत के अध्यक्ष पदों पर यथावत रहेगा आरक्षण

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप