Move to Jagran APP

Online Trading Fraud: 1200 करोड़ की ठगी करने वाले गिरोह एक और सदस्य गिरफ्तार, फर्जी वेबसाइट से बनाया शिकार

Online Trading Fraud वर्ष 2021 में दर्ज हुए इस मुकदमे में एसटीएफ अभी तक गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार कर चुकी है। साथ ही चार को नोटिस और दो के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किए गए हैं।

By Jagran NewsEdited By: Nirmala BohraFri, 10 Mar 2023 08:36 AM (IST)
Online Trading Fraud: एसटीएफ अभी तक गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार कर चुकी है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: Online Trading Fraud: आनलाइन ट्रेडिंग का लालच देकर 1200 करोड़ रुपये की ठगी करने वाले गिरोह के एक और सदस्य को उत्तराखंड पुलिस की एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) ने दिल्ली के एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपित भी दिल्ली का रहने वाला है।

वर्ष 2021 में दर्ज हुए इस मुकदमे में एसटीएफ अभी तक गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार कर चुकी है। साथ ही चार को नोटिस और दो के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किए गए हैं।

एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल के अनुसार, चार सितंबर 2021 को अमित कुमार निवासी ज्वालापुर हरिद्वार ने साइबर थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उन्हें अज्ञात व्यक्ति ने वाट्सएप पर मैसेज कर आनलाइन ट्रेडिंग का झांसा दिया था।

ज्यादा मुनाफा कमाने का झांसा दिया

आरोपित ने सोना, मसाले और रेडवाइन की ट्रेडिंग में निवेश कर ज्यादा मुनाफा कमाने का झांसा दिया था। विश्वास कर उन्होंने उसके बताए गए विभिन्न बैंक खातों में 15 लाख रुपये ट्रांसफर किए हैं, लेकिन अब उससे संपर्क नहीं हो पा रहा है। जांच के दौरान एसटीएफ ने जब उन बैंक खातों और मोबाइल नंबरों की जांच की तो पता चला कि इनका चीन और हांगकांग से संबंध है।

वर्ष 2021 में ही एसटीएफ ने गिरोह के एक सदस्य को पंजाब के फरीदकोट से, दो सदस्यों को मध्य प्रदेश से, एक सदस्य को उड़ीसा, एक को उत्तमनगर दिल्ली से गिरफ्तार किया। इसमें मुंबई के एक फिल्म निर्माता की भूमिका भी सामने आई थी। एसटीएफ ने उसे नोटिस जारी किया है। पिछले दिनों एक हवाला एजेंट को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया। वह दुबई और नेपाल में रुपये भेज रहा था।

अब तक की जांच में सामने आया है कि इसी प्रकार से गिरोह अभी तक 1200 करोड़ रुपये की ठगी कर चुका है। गिरोह ने फर्जी वेबसाइट भी तैयार की हैं, जो सिंगापुर में बनाई गई है। इसमें दिल्ली निवासी एक व्यक्ति का हाथ है। वह क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से रुपये विदेश भी भेजता है।

इस पर एक टीम को कुछ समय पहले दिल्ली निवासी अश्वनी को गिरफ्तार किया था। अश्वनी से पूछताछ के आधार पर एसटीएफ ने बुधवार को दिल्ली के शंकरपुर निवासी आरोपित जितेंद्र कुमार को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के पास से लैपटाप, मोबाइल फोन, 28 डेबिट कार्ड, कुछ डालर व अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं।