जागरण संवाददाता, देहरादून: एससी-एसटी एक्ट में 20 लोगों पर दर्ज मुकदमे में गिरफ्तारी और अन्य मांगों को लेकर दून में धरना-प्रदर्शन कर रहे घनसाली के दलितों का घनसाली विधायक की मौजूदगी में समझौता होने के बाद आंदोलन समाप्त हो गया। विधायक और प्रदर्शनकारियों के बीच पांच बिंदुओं पर सहमति बनी है।

उत्तराखंड संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के बैनर तले घनसाली क्षेत्र के गंगी गांव निवासी दलित परिवार परेड ग्राउंड में धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। कई दिन तक मांग पूरी न होने पर प्रदर्शनकारियों ने क्रमिक अनशन शुरू कर दिया था। गुरुवार को घनसाली विधायक शक्ति लाल धरनास्थल पर पहुंचे और मांग पूरी करने का आश्वासन देते हुए दौलत कुंवर व अन्य का अनशन समाप्त कराया। मंच के प्रदेश संयोजक दौलत कुंवर ने बताया कि विधायक के साथ पांच बिंदुओं पर समझौता हुआ है। पहला तो दलित युवक राकेश लाल पर दर्ज मुकदमा वापस होगा, ग्रामीणों द्वारा जो जंगली मांस की शिकायत की गई थी, वह वापस कराई जाएगी। विस्थापन और सुरक्षा की व्यवस्था कराई जाएगी, अनुसूचित जाति के लोगों द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमे में कार्रवाई कराई जाएगी। साथ ही सीओ पर नियमानुसार कानूनी कार्रवाई व जांच होनी चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस