ऋषिकेश। केदारनाथ मार्ग पर रामवाड़ा में स्थापित होने वाले केदार स्मृति वन के विकास के लिए पहल आरम्भ हो गई है। उत्तराखंड सरकर व परमार्थ निकेतन की ओर से विकसित किए जा रहे वन के लिए प्रख्यात कथा वाचक मोरारी बापू ने काबीना मंत्री हरक सिंह को रुद्राक्ष का पौधा सौंपा।
आपदा की दूसरी बरसी पर परमार्थ निकेतन में आयोजित कार्यक्रम में आपदा मे मृतकों को श्रद्धांजलि देते हुए कथावाचक मोरारी बापू ने कहा कि ये वन उन उन लोगों की स्मृति की चिरस्थाई बनाएगा। काबीना मंत्री हरक सिंह ने कहा कि सरकार का संकल्प साकार हो रहा है।
केदारनाथ में नर कंकाल मिलने के सवाल पर कबीना मंत्री ने कहा कि ये सब ओछी राजनीती है। इतने बड़े डिजास्टर के बाद यात्रा की सफलता के प्रयास किए जाने चाहिए न कि कमियां निकालकर समय नष्ट करना चाहिए। परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद मुनि ने कहा की रामबाड़ा में स्थापित होने वाले स्मृति वन में सभी तरह के दुर्लभ पेड़-पौधे ओर जड़ी बूटियां उगाई जाएंगी।
पढ़ें-मानसरोवर यात्रा के लिए कौन है अन्य रास्ते

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस