संवाद सहयोगी, विकासनगर: रविवार को आए आंधी तूफान के कारण पछवादून के कई इलाकों में विद्युत पोल गिर गए। तो वहीं पेड़ गिरने से कई स्थानों में बिजली की लाइनें टूट गई। जिससे दोपहर बाद कई इलाकों की बिजली आपूर्ति ठप हो गई।

रविवार दोपहर तीन बजे के करीब मौसम का मिजाज बिगड़ा। धूलभरी आंधी शुरू होने पर लोगों ने सुरक्षित स्थानों की तलाश की। तेज आंधी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि लोगों के घरों और दुकानों में धूल घुस गई। इस दौरान बाजार में सन्नाटा पसर गया। आंधी इतनी तेज थी कि कई लोगों के घरों की छत पर रखी पानी टंगी तक उखड़ गई। आंधी से खेतों में पड़ा भूसा भी उड़ने से किसानों को नुकसान हुआ हैं। वहीं, जगह-जगह बिजली के पोल उखड़ने से बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। हालांकि क्षेत्र में कहीं से भी जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है।

जीवनगढ़ व डाकपत्थर में 11 केवी की लाइन के पोल उखड़ने से डाकपत्थर फीडर व जीवनगढ़ फीडर की बिजली आपूर्ति ठप हो गई। जबकि टाउन फीडर से जुड़ी लाइनें क्षतिग्रस्त होने के चलते तीनों निकाय क्षेत्रों सहित सभी गांवों में अंधेरा पसर गया। निगम अधिकारियों के अनुसार बिन्हार के एक दर्जन गांव सहित बाड़वाला, जीवनगढ़, कटापत्थर, बरोटीवाला में बिजली आपूर्ति सुचारु होने में अधिक समय लग सकता है। जबकि टाउन में क्षतिग्रस्त लाइनों की मरम्मत करते ही ढकरानी पावर हाउस से शहरी क्षेत्रों की बिजली बहाल कर दी जाएगी। गनीमत रही कि आंधी शुरु होते ही ऊर्जा निगम ने एहतियात के तौर पर बिजली आपूर्ति बंद कर दी थी। जिससे जान माल का नुकसान नहीं हुआ। समाचार लिखे जाने तक पूरे पछवादून क्षेत्र में अंधेरा पसरा हुआ था। उधर, ऊर्जा निगम के एसडीओ गुरदीप ¨सह ने बताया कि क्षतिग्रस्त हुई लाइनों की मरम्मत का कार्य शुरु कर दिया गया। सभी क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस