जागरण संवाददाता, देहरादून: कांवली रोड पर तीन बुर्काधारियों के सरेआम एक युवती के अपहरण की सूचना झूठी निकली। परिजनों की ओर से मुंबई निवासी एक युवक से रिश्ता ठुकराए जाने के बाद युवती ने उसी युवक के साथ भागने के लिए खुद ही अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी थी। कोतवाली पुलिस ने जब अपहरण के समय घर में मौजूद युवती की छोटी बहन से पूछताछ की तो कहानी का पर्दाफाश हो गया। कोतवाली बीबीडी जुयाल ने बताया कि झूठी सूचना देने पर वादी और उसके परिजनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार को कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि कांवली रोड गाधी ग्राम में तीन बुर्काधारी महिलाओं ने एक युवती को बेहोश कर उसका अपहरण कर लिया। दिनदहाड़े अपहरण की सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया। तत्काल एसपी सिटी प्रदीप राय, सीओ सिटी चंद्रमोहन सिंह व कोतवाल बीबीडी जुयाल मय फोर्स मौके पर पहुंचे और पूछताछ की। पता चला कि अब्दुल वहीद पुत्र स्व. अब्दुल लतीफ पेशे से पुताई का काम करता है। उसके तीन बेटे और तीन बेटिया हैं। सबसे कड़ी बेटी की शादी हो चुकी है, जबकि दूसरी बेटी के लिए रिश्ते की तलाश चल रही है। मंगलवार को उनकी दूसरी बेटी शाहना व छोटी बेटी सानिया घर में अकेले थे। छोटी बेटी सानिया ने बताया कि करीब पौने 11 बजे तीन बुर्काधारी और एक बिना बुर्का वाली महिला घर में आई और आटा, चावल मागने लगीं। इसके बाद वह अंदर चली गई और शाहना उन्हें आटा-चावल देने लगी। कुछ देर में उसने दरवाजे पर आकर देखा तो बड़ी बहन शाहना घर पर नहीं थी और आटा चावल घर में बिखरा पड़ा था। उसने बाहर आकर देखा तो शाहना उन चारों महिलाओ के साथ जाती हुई गली में दिखाई दी। बताया कि उन्होंने उसे कुछ सुंघा दिया था। इसके बाद जब पुलिस ने जांच की तो प्रथम दृष्ट्या मामला संदिग्ध प्रतीत हुआ। क्योंकि जिस मकान से अपहरण हुआ था, उससे सटे कई अन्य घर भी हैं और उस समय वहां बड़ी संख्या में लोग होते हैं। लेकिन, किसी ने उन चारों महिलाओं को नहीं देखा। सीसीटीवी फुटेज में भी चारों महिलाओं के आने-जाने का कोई प्रमाण सामने नहीं आया। इसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की और घटना की चश्मदीद से दोबारा पूछताछ की तो सारा मामला खुल गया। सानिया ने पुलिस को बताया कि उसकी बहन ने ही खुद के अपहरण की साजिश रची थी। -------- इसलिए रची साजिश पूछताछ में छोटी बहन सानिया ने बताया कि उसकी बहन शाहना की मुंबई के किसी युवक से दोस्ती है। करीब चार महीने पहले युवक के घरवाले रिश्ते के लिए उनके घर आए थे। लेकिन, उसके परिजनों ने रिश्ते से इंकार कर दिया। जबकि शाहना उसी युवक से शादी करना चाहती थी। इसलिए उसने मंगलवार को युवक को देहरादून बुलाया था। वह रेलवे स्टेशन पर था। सानिया ने बताया कि शाहना ने उसे चार औरतों के भीख मागने के बहाने अंदर आने और उसका अपहरण करने की कहानी घरवालों को बताने को कहा था। बहन ने पहले से कमरे में आटा चावल बिखेर दिया था। जिससे कहानी सच लगे। वह सुबह साढ़े नौ बजे ही घर से चली गई थी। --------- झूठी सूचना पर पुलिस करेगी कार्रवाई कोतवाल बीबीडी जुयाल ने बताया कि अपहरण की झूठी सूचना और पुलिस को गुमराह करने के लिए तहरीर देने वाले युवती के पिता और अन्य परिजनों पर कार्रवाई की जाएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस