जागरण संवाददाता, देहरादून। International Yoga Day देशभर के साथ ही देवभूमि उत्तरखंड योग के रंग में रंगी नजर आई। गंगा तट से लेकर अग्रिम चौकियों तक अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। हिमवीरों का उत्साह भी देखते ही बन रहा है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत ने योगाभ्यास किया। इस दौरान सीएम रावत ने सभी को योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि भले ही हम कोरोना के कारण सामूहिक रूप से योगाभ्यास नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन लोग ऑनलाइन माध्यम से जुड़कर अपने घरों पर रहकर योग कर रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि उत्तराखंड की धरती से निकलकर ही योग देश और दुनिया में पहुंचा है।

(आयुर्वेद विश्वविद्यालय में योगाभ्यास करते सीएम तीरथ रावत और वन मंत्री हरक सिंह रावत)

पूरी दुनिया के साथ मिलकर योग करने का अवसर है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भारतीय जीवन पद्धति और पंरपरा के अभिन्न अंग 'योग' को विश्वभर के साथ मिलकर मनाने का अवसर है। इससे पहले उन्होंने राजभवन नैनीताल में योगाभ्यास और प्राणायाम किया।

गंगा तट पर हुआ योग

परमार्थ निकेतन(ऋषिकेश) से विशेष अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के सुबह का सत्र गंगा के तट से शुरू हुआ। इस दौरान परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद मुनि महाराज ने योग कुमारों के साथ योग किया।

हिमवीरों ने मनाया योग दिवस

भारतीय पर्वतारोहण और स्कीईंग संस्थान औली(चमोली) में आइटीबीपी के हिमवीरों ने योग दिवस मनाया। बदरीनाथ, औली समेत आइटीबीपी अग्रिम चौकियों में भी योग किया गया। आइटीबीपी के हिमवीर योग द्वारा अपने शरीर को हिमालयी चुनौतियों से लड़ने के लिए तैयार करते हैं। योग से ही हिमवीर विषम भौगोलिक परस्थितियों में सरहद पर देश की रक्षा मुस्तैदी से करते हैं। आइटीबीपी के हिमवीरों ने योग को आत्मसात कर लिया है। वे बर्फ में योग करते रहते हैं।

बाबा रामदेव ने पतंजलि में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के साथ किया योग

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योग गुरु बाबा रामदेव ने पतंजलि योगपीठ फेस टू में योगपीठ के अंतः वासियों, योगसाधकों और पतंजलि में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के साथ योग किया। इस अवसर पर उन्होंने ऑनलाइन विश्व योग दिवस का आयोजन भी किया। इस मौके पर उनके साथ सहयोगी आचार्य बालकृष्ण भी मौजूद थे।

डोईवाला में आरएसएस के विभिन्न केंद्रों पर हुआ योग

डोईवाला में योग दिवस पर लोगों ने योग से रोग भगाने के गुर सीखे। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा कार्यकर्ताओं ने विभिन्न केंद्रों में योग शिविर के माध्यम से शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग की विभिन्न क्रियाएं की। कुछ विद्यालयों में ऑनलाइन योग शिविर का आयोजन भी किया गया। हिमालयन हॉस्पिटल जौलीग्रांट में भी हिमालयन यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ विजय धस्माना की देखरेख में चिकित्सकों मेडिकल स्टाफ ने योग किया।

जौनसार-बावर में कई जगह योग शिविरों का आयोजन

करें योग रहे निरोग मंत्र के साथ जौनसार-बावर में कई जगह योग शिविर का आयोजन किया गया। सुदूरवर्ती बजऊ गांव में योगाचार्य नीलम चौहान ने ग्रामीण छात्र-छात्राओं और स्थानीय लोगों को योगाभ्यास कराया। इसके अलावा देवघार खत से जुड़े अटाल पंचायत में युवा कल्याण समिति के सदस्य एवं योग प्रशिक्षक सुशीला राणा ने स्कूली छात्र-छात्राओं को योगाभ्यास का प्रशिक्षण दिया। आर्य समाज मंदिर चकराता में योग प्रशिक्षक पंकज त्यागी और साहिया में मंडल अध्यक्ष अमर सिंह चौहान के नेतृत्व में स्थानीय ग्रामीणों, व्यापारियों और अन्य लोगों ने अलग-अलग जगह अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के मौके पर शरीर को निरोग बनाने के लिए योग क्रिया का अभ्यास किया।

योगाचार्य नीलम चौहान ने कहा स्वस्थ शरीर एवं स्वस्थ मस्तिष्क के लिए नियमित योगाभ्यास करना बेहद जरूरी है। योग के माध्यम से शरीर के कई रोगों को दूर किया जा सकता है। योग की महत्ता देख दुनियाभर ने इसे अपनाया है। कोरोनाकाल में योग क्रिया के माध्यम से कई लोग होम आइसोलेशन के दौरान घर में ठीक हुए। कहा योग का जीवन में विशेष महत्व है। जिसे सभी को अपनाना चाहिए।

हरिद्वार और रुड़की में भी मनाया योग दिवस

हरिद्वार और रुड़की में भी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर शहर से लेकर देहात क्षेत्र तक सुबह से ही योग शिविर आयोजित किए गए। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के मुख्य भवन पर योग शिविर का आयोजन किया गया। वहीं, शहर विधायक प्रदीप बत्रा के कैंप कार्यालय पर भी योग शिविर में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और नागरिकों ने प्रतिभाग किया। गंगनहर किनारे स्थित पार्क में भी योग शिविर आयोजित किया गया वही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से भी विभिन्न शाखाओं में योग शिविर आयोजित किया गया

(परमार्थ निकेतन शिवमूर्ति घाट पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग करते ऋषि कुमार)

(पौड़ी, जीआइसी सभागार में योग करते अधिकारी और कर्मचारी)

यह भी पढ़ें- International Yoga Day: कोरोना महामारी ने बदला योग का स्वरूप, तीर्थ नगरी के योग शिक्षक दुनियाभर में वर्चुअल माध्यम से दे रहे शिक्षा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri