Move to Jagran APP

Heavy Rain Alert In Uttarakhand: चारधाम में बर्फबारी से जनवरी जैसा अहसास, आज इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट

Heavy Rain Alert In Uttarakhand पश्विमी विक्षोभ के सक्रिय होने से उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में वर्षा और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। मंगलवार को मौसम विभाग की ओर से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

By Ashok KumarEdited By: Nirmala BohraPublished: Tue, 21 Mar 2023 06:47 AM (IST)Updated: Tue, 21 Mar 2023 06:47 AM (IST)
Heavy Rain Alert In Uttarakhand: आज इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट

जागरण संवाददाता, देहरादून : Heavy Rain Alert In Uttarakhand: पश्विमी विक्षोभ के सक्रिय होने से उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में वर्षा और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। 21 मार्च मंगलवार को भी राज्‍य के अधिकतर इलाकों में बारिश का दौर जारी रहा। तड़के से बारिश होती रही, जिससे तापमान में गिरावट आई है और ठंड महसूस की जा रही है। 

मंगलवार को देहरादून, हरिद्वार, कोटद्वार में बारिश का दौर जारी रहा। सोमवार देर रात से मंगलवार सुबह तक  यहां बारिश होती रही। वहीं इससे पहले सोमवार को गंगोत्री, यमुनोत्री की ऊंची चोटियों व केदारनाथ व बदरीनाथ धामों में सोमवार को बर्फबारी हुई।

आज भी प्रदेशभर में वर्षा, बर्फबारी का यलो अलर्ट

मंगलवार को मौसम विभाग की ओर से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। गर्जन के साथ ओलावृष्टि और आंधी को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है। देहरादून, अल्‍मोड़ा, नैनीताल और चंपावत में गर्जन के साथ बिजली चमकने और ओलावृष्टि की संभावना है। वहीं कुछ स्‍थानों पर हल्‍की बारिश हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से उत्तराखंड में वर्षा, ओलावृष्टि व बर्फबारी का दौर 24 मार्च तक बने रहने की संभावना है। केवल 22 एवं 23 मार्च को इसमें कुछ कमी आने का अनुमान है।

फिर 24 मार्च को मैदानों में वर्षा और तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है। मंगलवार को कुमाऊं मंडल के सभी जनपदों व गढ़वाल मंडल के अधिकांश जनपदों में वर्षा, बर्फबारी की संभावना है। इसके लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

निचले इलाकों में वर्षा व ऊंची चोटियों पर हिमपात

समूचे कुमाऊं मंडल में निचले इलाकों में वर्षा व ऊंची चोटियों पर हिमपात हो रहा है। मसूरी में दिन के समय करीब तीन घंटे वर्षा होने और देहरादून में बूंदाबांदी होने से राजधानी के तापमान में छह डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज की गई।

देहरादून व आसपास के क्षेत्रों में सुबह से ही घने बादल छाये रहे। इस दौरान दोपहर करीब एक बजे गड़ीकैंट, प्रेमन्रर, राजपुर रोड जाखन ओल्ड मसूरी रोड, एफआरआइ क्षेत्र में हल्की वर्षा हुई। जबकि अन्य क्षेत्रों में बूंदाबांदी हुई। सोमवार को दून का अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 23.9 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 14.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

इसी तरह मसूरी का अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 19.3 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 08.5 डिग्री सेल्सियस रहा। मसूरी में सोमवार सुबह आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक 38.1 मिमी, देहादून में 12.2 मिमी वर्षा हुई।

पहाड़ों में वर्षा और बर्फबारी से लौटी ठंड

सोमवार सुबह गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की निकटवर्ती चोटियों पर र्फबारी हुई है। हर्षिल घाटी और निचले क्षेत्रों में रुक-रुक कर वर्षा हो रही है। जिससे एक बार फिर से ठंड काफी बढ़ गई है।

उत्तरकाशी जिला मुख्यालय में अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बदरीनाथ धाम की ऊंची चोटियों में बर्फबारी हुई है। इसके अलावा जिले में भी कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा हुई है।

वहीं केदारनाथ धाम में लगातार चौथे दिन भी बर्फबारी हुई है। इसके अलावा रुद्रप्रयाग जिले में निचले स्थानों पर हल्की वर्षा हुई है। नई टिहरी में सुबह से ही घने बादल छाए रहने के साथ ही वर्षा शुरू हो गई जिस कारण नई टिहरी निवासियों को कड़ाके की सर्दी का सामना करना पड़ रहा है।

नई टिहरी में सोमवार का अधिकतम तापमान 11.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जबकि नई टिहरी का तापमान 20 डिग्री के आसपास रहता था। कोटद्वार व आसपास के क्षेत्र में वर्षा का दौर सोमवार को भी जारी रहा। धुमाकोट सहित आसपास के गांव में ओलावृष्टि से खेत सफेद हुए नजर आए। उधर, कुमाऊं मंडल के नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़ बागेश्वर जनपदों में वर्षा व ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.