जागरण संवाददाता, ऋषिकेश : एम्स ऋषिकेश के सोशल आउटरीच सेल के तत्वावधान में स्वास्थ्य चेतना नामक पत्रिका का विमोचन किया गया। बताया गया है कि इस पत्रिका के प्रकाशन का उद्देश्य दूर- दराज के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है।

संस्थान के लेक्चर थियेटर में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन एम्स निदेशक प्रो. अरविद राजवंशी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तराखंड की निदेशक डा. सरोज नैथानी, एम्स के संकायाध्यक्ष अकादमिक प्रो. मनोज गुप्ता, चिकित्सा अधीक्षक प्रो. अश्वनी कुमार दलाल व सामुदायिक एवं पारिवारिक चिकित्सा विभागाध्यक्ष प्रो.वर्तिका सक्सेना ने किया। निदेशक एम्स ने बताया कि इस पत्रिका की सहायता से किसी भी सामान्य रोग से ग्रसित व्यक्ति को प्राथमिक उपचार में काफी हद तक मदद मिल सकती है। एनएचएम की राज्य निदेशक डा. सरोज नैथानी ने उम्मीद जताई कि उत्तराखंड एक पर्वतीय राज्य है, यह पत्रिका जन स्वास्थ्य के लिए काफी हद तक लाभप्रद साबित होगी। संस्थान के डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता ने बताया कि किसी भी व्यक्ति को बीमारी के उपचार से पूर्व उसे उचित परामर्श मिलना जरूरी है। लिहाजा पत्रिका के माध्यम से लोगों तक इसी तरह के जनउपयोगी संदेश पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। सीएफएम विभागाध्यक्ष प्रो. वर्तिका सक्सेना ने इस प्रयास की सराहना की और इस पुस्तक को वृहद जन उपयोगी दस्तावेज बताया। उनका कहना है कि इस पुस्तक से लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होंगे और उन्हें स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न जरूरी जानकारियां उपलब्ध हो सकेंगी।

पत्रिका के संपादक डा. संतोष कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य चेतना नामक इस पत्रिका का उद्देश्य सुदूरवर्ती क्षेत्रों में रहने वाले व्यक्तियों को हम किसी भी तरह की बीमारी की प्रारंभिक अवस्था में ही सही परामर्श व मार्गदर्शन दे सकें, जिससे उसके द्वारा बीमारी का समय रहते सही उपचार माध्यम अपनाया जा सके।

---------

कोविड में अहम भूमिका निभाने वाले हुए सम्मानित

एम्स ऋषिकेश की कम्युनिटी टास्क फोर्स की ओर से कोविड महामारी के दौरान अहम योगदान देने वाले स्वास्थ्य कार्यकत्र्ताओं को सम्मानित किया गया। सम्मानित प्राप्त करने वाले लोगों में पल्मोनरी विभागाध्यक्ष प्रो. गिरीश सिधवानी, प्रो. अनुपमा बहादुर, प्रो. वर्तिका सक्सेना, पीजी कालेज ऋषिकेश के प्रो. गुलशन ढींगरा, डा. आशीष बूटे, डा. रविकांत, डा. रंजीता कुमारी, डा. अनिद्या दास, डा. संतोष कुमार, डा. अजीत भदौरिया, डा. मुकेश बैरवा, डा. लोकेश कुमार सैनी, डा. विनोद कुमार, डा. ब्रुजिली, संदीप कुमार सिंह, नर्सिंग फैकल्टी डा. राखी मिश्रा के अलावा यूपीएचसी सेंटर शांतिनगर ऋषिकेश व कैलासगेट, मुनिकीरेती में कार्यरत एएनएम व आशा वर्कर्स आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट