जागरण संवाददाता, देहरादून। अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए उत्तराखंडवासियों से भी सहयोग लेने का सिलसिला शुरू हो गया है। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निधि समर्पण अभियान के तहत उत्तराखंड में राजभवन से राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने सहयोग राशि प्रदान कर इसकी शुरुआत की। विश्व हिं परिषद ने अभियान के तहत प्रदेश के 24 लाख परिवारों से संपर्क साधने का लक्ष्य रखा है। अभियान 5 फरवरी तक चलाया जाएगा।

राज्यपाल और सीएम ने दिया योगदान

उत्तराखंड में इस अभियान की शुरुआत राजभवन से की गई। सबसे पहले राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने राम मंदिर निर्माण को सहयोग स्वरूप धनराशि का चेक प्रदान किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी सहयोग राशि दी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और विश्व हिंदू परिषद् की ओर से श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए यह अभियान चलाया जा रहा है। राजभवन और मुख्यमंत्री आवास में विहिप के केंद्रीय मंत्री अशोक तिवारी, क्षेत्र प्रचार प्रमुख जगदीश, क्षेत्र कार्यवाहक शशिकांत दीक्षित, प्रांत प्रचारक युद्धवीर, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रविदेव आनंद, प्रांत संगठन मंत्री अजय कुमार और प्रांत सह व्यवस्थापक नीरज मित्तल उपस्थित थे। 

24 लाख परिवारों से लेंगे सहयोग

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने बताया कि उत्तराखंड में उत्तरायणी से पांच फरवरी तक चलने वाले इस अभियान में देशभर के तमाम रामभक्तों से संपर्क साधा जाएगा। इसके लिए टोलियां रवाना हो गई हैं। जिसमें 22 हजार विहिप कार्यकर्ता उत्तराखंड के 14 हजार 526 गांव व 73 शहरों के 24 लाख परिवारों से सहयोग मांगेंगे। देश की हर जाति, मत, पंथ, संप्रदाय, क्षेत्र, भाषा के व्यक्तियों के सहयोग के साथ राम मंदिर एक राष्ट्र मंदिर का रूप लेगा। उन्होंने प्रत्येक राम भक्त से इस राम काज के लिए बढ़-चढ़कर आगे आने का आह्वान किया है। बताया कि जनसंपर्क अभियान में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता जुट रहे हैं। पहले दिन समाज स्वेच्छा से सहयोग को आगे आया। 

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि समर्पण समिति उत्तराखंड के मंत्री रणदीप पोखरिया ने बताया कि प्रांत सेवा प्रमुख पवन कुमार और डॉ. विनय विद्यालंकार सह अभियान प्रमुख का कार्य देख रहे हैं। अनिल मित्तल, प्रभु दयाल और दिनेश पांडे हिसाब प्रमुख बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए दी सहयोग राशि

Edited By: Raksha Panthri