जागरण संवाददाता, देहरादून। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से मिनिस्टीरियल कर्मचारियों की पदोन्नति के आदेश जारी नहीं होने से कर्मचारियों में रोष है। प्रांतीय बाल विकास मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि सालभर पहले शासन की ओर से विभाग को पदोन्नति के आदेश दे दिए गए थे, बावजूद इसके विभाग ने अब तक सूची जारी नहीं की है। एसोसिएशन ने विभाग से जल्द से जल्द सूची जारी करने की मांग की है। 

प्रांतीय बाल विकास मिनिस्टीरियल एसोसिएशन ने बुधवार को महिला एवं बाल विकास विभाग निदेशालय में धरना देकर पदोन्नति सूची जारी करने की मांग की। एसोसिएशन के अध्यक्ष सोहन सिंह रावत ने कहा कि करीब एक साल पहले शासन ने विभाग को सभी कर्मचारियों की पदोन्नति सूची जारी करने के आदेश किए थे। लेकिन लेकिन विभाग की लापरवाही का आलम यह है कि अब तक कर्मचारियों को इसका लाभ नहीं मिल सका। प्रदेशभर में सैकड़ों कर्मचारी इससे परेशान हैं।

कर्मचारी महेश चंद बिजल्वाण ने सरकार से कर्मचारियों की पदोन्नति में अड़गा डालने वाले अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की मांग की। विरोध जताने वालों में उमा दत्त जोशी, एमआर खंडूरी, रमेश चंद्र रतूड़ी, अशोक कुमार तोमर, अनिल खत्री, हिमांशु देशवाल, पूजा सेमवाल, गीता पंवार, सुमित्रा, प्रीति वर्मा, नीता बलोदी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें-दून उद्योग व्यापार मंडल ने सिंगल यूज प्लास्टिक प्रतिबंध पर उठाए सवाल

 

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप