देहरादून, जेएनएन। जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर काफी समय से सियार, बिज्जू और भेड़िये चहलकदमी कर रहे हैं। रनवे पर वन्यजीवों के घूमने से हादसे का खतरा बना रहता है। जिसके चलते वन विभाग की टीम ने यहां पिंजड़े लगाए हैं। इनमें अब तक आठ सियार, एक भेड़िया और छह से अधिक बिज्जू फंस चुके हैं। रविवार को भी यहां एक सियार कैद हुआ।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट के आसपास सियार, बिज्जू समेत अन्य वन्यजीव घूमते रहते हैं। ये वन्यजीव अक्सर रनवे पर आ जाते हैं। जिनसे फ्लाइट की लैंडिंग और टेक ऑफ के वक्त हादसे का खतरा रहता है। एयरपोर्ट प्रबंधन की ओर से शिकायत मिलने के बाद वन विभाग जागा और यहां पिंजड़े लगाए। डीएफओ राजीव धीमान ने बताया कि वन विभाग ने इनकी आवाजाही को देखते हुए एयरपोर्ट पर कुछ पिंजड़े लगाए हैं। जिसमें रविवार को भी एक सियार फंस गया।

इन जीवों को पकड़कर दूर जंगल में छोड़ दिया जाता है। जिसे सुरक्षित घने जंगल में जाकर ये एयरपोर्ट और अन्य रिहायशी इलाकों में नहीं आ पाते। इसके अलावा वन विभाग की टीम एयरपोर्ट क्षेत्र के आसपास लगातार गश्त करती है। मुख्यालय से रेस्क्यू टीम के हेड रवि जोशी ने बताया कि यहां समय-समय पर पिंजडों को चेक किया जाता है। साथ ही सुबह और शाम को यहां गश्त भी बढ़ा दी गई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस