जागरण संवाददाता, देहरादून : उत्तराखंड को फिलहाल मौसम से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। अगले 24 घंटे में मौसम और बिगड़ेगा। इस दौरान देहरादून के अलावा मसूरी और टिहरी, पौड़ी, पिथौरागढ़ व नैनीताल जनपदों में बारिश एवं ओलावृष्टि हो सकती है। साथ ही 3000 मीटर की ऊंचाई तक भारी हिमपात के आसार बन रहे हैं।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, प्रदेश में सात मार्च तक मौसम के तेवरों में बदलाव आने की संभावना नहीं है। रविवार को दून का अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश : 24.4 व 10.6 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि मसूरी का अधिकतम तापमान 12.2 व न्यूनतम 03.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दून व मसूरी में शनिवार को शुरू हुआ बारिश का दौर देर रात तक जारी रहा। जौनसार-बावर में चकराता की पहाड़ियां भी बर्फ से सफेद हैं। रविवार को प्रदेश में दोपहर तक धूप रही, लेकिन शाम होते ही कई जगह बूंदाबांदी शुरू हो गई थी। जबकि पहाड़ों पर हिमपात हुआ। पौड़ी से पिथौरागढ़ व ऊधमसिंहनगर तक रुक-रुक कर बारिश होती रही। चारधाम व कुमाऊं की चोटियां बर्फ से लकदक

उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग एक बार फिर हर्षिल और फूलचट्टी में बंद हो गए हैं। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही उत्तरकाशी की गंगा-यमुना घाटी व चमोली में औली, जोशीमठ, गोरसो बुग्याल और निजमूला घाटी बर्फ से लकदक हो गई हैं। दूसरी पिथौरागढ़ में शनिवार रात हुए भारी हिमपात के बाद थल-मुनस्यारी मोटर मार्ग बंद हो गया है। मुनस्यारी में ऊंची चोटिया बर्फ से लकदक हो गई हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप